सरपंच की करतूत से ग्रामीणों में भड़का गुस्सा, बोले- बच्चे डर के साए में करते हैं पढ़ाई

ग्रामीणों का आरोप है कि साल भर पहले कक्ष निर्माण के लिए 3.10 लाख रुपए शासन से स्वीकृत हुई।

गरियाबंद/देवभोग. फलसापारा ग्राम पंचायत के सरपंच और सचिव पर ग्रामीणों ने प्रधानपाठक कक्ष के लिए मिली राशि को डकारने का आरोप लगाया है। ग्रामीणों का आरोप है कि साल भर पहले कक्ष निर्माण के लिए 3.10 लाख रुपए शासन से स्वीकृत हुई। जिसमें 25 प्रतिशत राशि करीब 77 हजार 500 रुपए मिल गई थी। वहीं राशि मिलने के बाद भी सरपंच ने आज तक वहां कक्ष निर्माण के लिए नींव भी नहीं रखी गई है।

मामले में भवन निर्माण कार्य शुरू कराने को लेकर सरपंच नोहर सिंह नेताम से कई बार चर्चा की गई। लेकिन सरपंच उसे गोलमोल जवाब देकर टाल देते हैं। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि सरपंच ने प्रधानपाठक कक्ष का काम न शुरू कराकर उस राशि को निजी उपयोग में लाया है। सरपंच ने संबंधित स्थान पर मात्र दो ट्रीप रेत ही डलवाए थे।वहीं नींव खुदवाने को लेकर सरपंच किसी तरह की रुचि ही नहीं ले रहे।

सरपंच नेताम की लापरवाही का खामियाजा ग्राम फलसापारा के प्राथमिक शाला में पढऩे वाले बच्चों को उठाना पड़ रहा है। ग्रामीणों के मुताबिक गांव का स्कूल भवन 26 साल पुराना है। ऐसे में जगह-जगह दीवारे टूट रही है। छत का छड़ पूरी तरह से दिखने लगा है। जिम्मेदार अधिकारियों ने भी भवन को अति जर्जर घोषित कर दिया है। वहीं व्यवस्था नहीं होने के कारण मजबूरी में जर्जर भवन में ही स्कूल का संचालन किया जा रहा है। इस प्राथ्मिक शाला में कक्षा पहली से पांचवीं तक के 69 बच्चे के पढ़ाई कर रहे हंै।

कभी भी हो सकता है स्कूल में बढ़ा हादसा
पालकों ने बताया कि बच्चे शाला में पढऩे जाते हैं, तो उनके अंदर एक डर सा बना रहता है। शिक्षकों ने कहा कि कक्ष की कमी के कारण जर्जर भवन में बच्चों पढ़ाया जा सकता है। प्रधानपाठक कक्ष की स्वीकृति मिली तब उन्हें उम्मीद थी कि बच्चों को पहले वाले कक्ष में पढ़ाएंगे जिससे जर्जर भवन में उन्हें बैठाना नहीं पड़ेगा। प्रधानपाठक ने कहा एक साल पहले कक्ष निर्माण के लिए स्वीकृति मिल गई है। भवन को लेकर सरपंच ने आज तक नींव भी नहीं खुदवाई गई है।

मुझे इस मामले की जानकारी नहीं है। पूरी जानकारी लेता हूं। अगर इस तरह की स्थिति होगी तो वसूली का नोटिस सरपंच को जारी किया जाएगा।
दुल्लूराम सोरी, बीआरसीसी देवभोग

कक्ष निर्माण के लिए 25 प्रतिशत राशि मुझे प्राप्त हुई है। कुछ कारणों के चलते काम शुरू नहीं हो पाया है। जल्द ही काम शुरू किया जाएगा।
नोहर सिंग नेताम, सरपंच फ लसापारा

कलक्टर से करेंगे शिकायत
नाराज ग्रामीणों ने कहा कि सरपंच की लापरवाही की हद अब पास हो चुकी है। अब इसकी शिकायत जिला मुख्यालय जाकर कलक्टर से की जाएगी। कलक्टर को पंचायत के मूलभूत सुविधाओं के लिए मिली राशि का सरपंच और सचिव द्वारा बंदरबाट किए जाने के बारे में भी अवगत कराया जाएगा।

चंदू निर्मलकर Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned