अंतिम संस्कार के बाद मौन धारण के कर रहे थे कि तभी हमेशा के लिए 'मौन' हो गईं 18 जिंदगियां

Highlights

- श्मशान घाट पर अंतिम संस्कार में पहुंचे थे करीब 40 लोग

- मौन धारण करने के दौरान हुआ दर्दनाक हादसा

- जिलाधिकारी ने 18 लोगों की मौत की पुष्टि की

By: lokesh verma

Published: 03 Jan 2021, 06:10 PM IST

गाजियाबाद. जिले के मुरादनगर में बारिश के कारण श्मशान घाट की छत गिरने से बड़ा हादसा हो गया। इस दर्दनाक घटना में करीबन डेढ़ दर्जन लोगों की मौत हो गई, जो अंतिम संस्कार में शामिल होने पहुंचे थे। जिला प्रशासन और एनडीआरएफ की टीम मौके पर रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी है। डीएम अजय शंकर पांडेय ने इस हादसे में 18 लोगों की मौत होने की पुष्टि की है। इस घटना के बाद से कई परिवारों में मातम का माहौल है। कुछ लोग अपनों को मलबे में तलाशते नजर आए।

यह भी पढ़ें- श्मशान घाट हादसा: बढ़ रहा मौतों का आंकड़ा, रक्षामंत्री समेत कई नेताओं ने जताया दुख, CM Yogi ने किया आर्थिक मदद का ऐलान

उल्लेखनीय है कि सुबह से ही दिल्ली समेत पूरे वेस्ट यूपी बारिश हो रही है। मुरादनगर थाना क्षेत्र स्थित श्मशान घाट पर करीब 40 लोग 65 वर्षीय जयराम का अंतिम संस्कार करने पहुंचे थे। बताया जा रहा है कि दाह संस्कार करने के बाद सभी लोग श्मशान घाट परिसर में बनी गैलरी में एकत्रित हुए थे। इस दौरान जैसे ही उन्होंने दिवंगत आत्मा की शांति के लिए मौन धारण किया तो अचानक गैलरी की छत भर-भराकर गिर पड़ी। जिसमें मौन धारण कर रहे 18 लोगों की जिंदगी हमेशा के लिए मौन हो गई। जबकि कई अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए। सभी घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। खबर लिखे जाने तक जिला प्रशासन और एनडीआरएफ की टीम रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी थीं।

बता दें कि जिस गैलरी में यह हादसा हुआ है, उसका निर्माण करीब ढाई महीने पहले ही किया गया है। हादसे के बाद अब इसके निर्माण में घटिया सामग्री के इस्तेमाल के आरोप लग रहे हैं। कयास लगाए जा रहे है कि इस मामले में नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी के सहित कई अफसरों पर गाज गिरने की संभावना है।

यह भी पढ़ें- गाजियाबाद: श्मशान की छत गिरी, 40 से अधिक लोग दबे, 18 की मौत, मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख की मदद

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned