व्यापारी बोले- बजट में खत्म की जाए जीएसटी की जटिलता, काफी समय होता है बर्बाद

Highlights

- गाजियाबाद में व्यापारी मंडल की बैठक का आयोजन

- व्यापारियों ने आगामी बजट को लेकर सरकार को दिए सुझाव

- बोले- सबसे ज्यादा रिवेन्यू देने वाले व्यापारियों पर सरकार दे ध्यान

By: lokesh verma

Published: 23 Jan 2021, 04:01 PM IST

गाजियाबाद. जल्द ही सरकार आगामी बजट (Budget 2021) पेश करने वाली है, जिसे लेकर व्यापारियों को सरकार से बड़ी उम्मीदें हैं। गाजियाबाद (Ghaziabad) में भी व्यापार मंडल से जुड़े व्यापारियों ने आगामी बजट को लेकर सरकार को कई सुझाव दिए हैं। व्यापारियों का कहना है कि जीएसटी (GST) की जटिलता को खत्म करना आवश्यक है। जीएसटी में जटिलता के कारण व्यापारियों का काफी समय बर्बाद होता है। पूरे देश में एक टैक्स की बात कही गई थी, जिस कारण जीएसटी लागू किया गया था, लेकिन जीएसटी में जटिलता के कारण व्यापारियों को रिटर्न भरने में भारी परेशानी हो रही है।

यह भी पढ़ें- 24वें हुनर हाट का सीएम योगी ने किया उद्घाटन, वोकल फॉर लोकल पर आधारित है थीम

व्यापारियों ने कहा कि जीएसटी का भुगतान करने के बाद बिल लेने पर दूसरी पार्टी पर जिम्मेदारी होनी चाहिए। कोरोना काल के दौरान व्यापार को हुए नुकसान की भरपाई के लिए सरकार को आर्थिक पैकेज देना चाहिए। बैठक में भारत के वैज्ञानिकों द्वारा कोरोना वैक्सीन विकसित किये जाने पर उनका आभार जताया गया। इन व्यपारियो का कहना है कि व्यापारी एक प्रकार से रीढ़ की हड्डी माना जाता है, क्योंकि हर व्यक्ति तक वह उसकी जरूरत के अनुसार समान उपलब्ध कराता है और सबसे ज्यादा रिवेन्यू भी सरकार को देता है, लेकिन फिर भी व्यापारियों की तरफ किसी का ध्यान नहीं रहता।

व्यापारियों का कहना है कि जब व्यापारी समय से लगातार टैक्स जमा करता है तो उनके लिए भी पेंशन योजना लानी चाहिए। ताकि व्यापारी जब बुढ़ापे की तरफ यानी रिटायर जैसी स्थिति में आए तो वह भी किसी पर आश्रित ना रहे और अपना जीवन ठीक जे व्यतीत कर सके। इस अवसर पर गाजियाबाद के तमाम व्यापारी मौजूद रहे। व्यापारियों ने बैठक में दिए गए तमाम सुझाव सरकार को भेजे हैं।

यह भी पढ़ें- नया आदेश: फोन में नहीं है ये App तो Expressway पर नहीं कर सकेंगे सफर, जल्द लागू होगा नियम

Budget 2021
Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned