डॉक्टर बनने के जुनून ने ली जान : सुसाइड नोट पर लिखा- 'NEET क्लियर नहीं कर पाऊंगा, इसलिए जा रहा हूं', लगाई फांसी

'NEET क्लियर नहीं कर पाऊंगा, इसलिए जा रहा हूं', सुसाइड नोट लिखकर छात्र ने लगाई फांसी।

By: Faiz

Published: 30 Dec 2020, 08:39 PM IST

ग्वालियर/ मध्य प्रदेश के ग्वालियर में एक छात्र की जान पर डॉक्टर बनने का जुनून भारी पड़ गया। नीट की तैयारी कर रहे छात्र का शव उसी के घर पर फांसी के फंदे पर झूलता हुआ मिला। घटना की जानकारी लगे ही मौके पर पहुंची पुलिस को शव के पास से एक सुसाइड नोट भी मिला, जिसमें लिखा था कि 'मैं नीट क्लियर नहीं कर पाऊंगा, इसलिए जा रहा हूं।' घटना मंगलवार-बुधवार दरमियानी रात को सामने आई। इसके बाद जनकगंज पुलिस पंचनामा बनाकर शव को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया था, जिसे बुधवार की दोपहर अंतिम संस्कार के लिये परिजन को सौंपते हुए जांच शुरु कर दी है।

 

पढ़ें ये खास खबर- नसबंदी की आड़ में महिलाओं पर अत्याचार, कड़ाके की ठंड में ऑपरेशन कर महिलाओं को फर्श पर लेटाया


ये है मामला

शहर की नई सड़क स्थित रहने वाले भारत ढींगरा, शहर की ही गांधी मार्केट में कपड़ा व्यपारी हैं। उनका 17 वर्षीय छोटा बेटा रौनिक ढींगरा बचपन से डॉक्टर बनने की इच्छा रखता था। इसीलिये वो नीट की तैयारी कर रहा था। अक्टूबर 2020 में उसका रिजल्ट आया था, जिसमें पास न हो पाने के चलते वो एक बार फिर तैयारी में लग गया था, पर बीते कुछ दिनों से उसे कुछ याद नहीं रह पा रहा था, जिसके चलते वो काफी तनाव में रहने लगा था। रौनिक मंगलवार रात परिजन को गुड नाइट कहकर सोने चला गया। दूसरे दिन सुबह जब वो अपने उठने के तय समय पर कमरे से बाहर नहीं आया, तो परिजन ने कमरे में जाकर देखा। यहां रौनिक का शव फांसी के फंदे पर लटका था। तत्काल उसे उतारकर अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

 

पढ़ें ये खास खबर- फर्जी धान खरीदी केंद्र का भांडाफोड़ : किसानों से ले चुके थे 26 हजार क्विंटल धान, किसी का भी नहीं किया भुगतान


सुसाइड नोट पढ़कर बिलख पड़े परिजन

परिजन के मुताबिक, छात्र को बचपन से ही लिखने-पढ़ने का काफी शौक था। वो बचपन से ही बड़ा होकर डॉक्टर बनने की इच्छा जाहिर करता था, लेकिन नीट में सफल न होना और आगे की तैयारी में मन नहीं लगने के कारण उसे पिछले कई दिनों से ये लगने लगा था कि, वो आगामी परीक्षा में भी पास नहीं हो पाएगा। यही बात, उसने सुसाइड नोट में लिखी है। सुसाइड नोट में उसने लिखा कि, 'उसे लगता है कि वह नीट क्लियर नहीं कर पाएगा। उस पर काफी प्रेशर है, इसलिए जा रहा है।' जबसे परिवार ने अपने बच्चे का सुसाइड नोट पढ़ा है, उनका रो-रो कर बुरा हाल है।

 

ग्रामीण अंचलों को सरकार की सौगात : मार्च तक 26 लाख 26 हजार घरों में होंगे नल कनेक्शन, देखें वीडियो

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned