Corona: जानें किन तरीकों से किया जा सकता है कोरोनावायरस का इलाज

दुनियाभर में 4.3 करोड़ से अधिक लोग कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित हो चुके हैं। हालांकि 2.8 लोग कोरोना को मात भी दे चुके हैं।

 

By: Vivhav Shukla

Published: 22 Oct 2020, 02:00 AM IST

नई दिल्ली। कोरोनावायरस (Coronavirus) ने दुनियाभर में कोहराम मचा रखा है। ताजे आंकड़ों के मुताबिक4.3 करोड़ से अधिक लोग इस वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। हालांकि 2.8 लोग कोरोना को मात भी दे चुके हैं। ऐसे में सवाल ये है कि अगर कोरोना की कोई वैक्सीन ही नहीं बनी है तो लोग ठीक कैसे हो रहे हैं और इनका इलाज कैसे हो किया जा रहा है।

ड्राइविंग लाइसेंस के लिए जा रहे हैं RTO तो कराना पड़ सकता है Covid-19 टेस्ट!

कुछ के लिए खतरनाक हो सकता है वायरस

कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों को अस्पताल में भर्ती या फिर घर पर आइसोलेट करके ठीक कर दिया जाता है। इसके साथ ही स्टेरॉयड (Steroids) जैसे डेक्सामेथासोन (Dexamethasone) की मदद से कोरोना के गंभीर मरीजों में मौत की संभावना को कम किया जा सकता है, लेकिन ये दवा सभी को नहीं दी जा सकती है। जो लोग पहले से गंभिर बीमारी से जूध रहे हैं या जिन लोगों में कोरोना के हल्के लक्षण है उनके लिए ये दवाए जानलेवा भी हो सकती हैं।

जानें कितने दिन बाद दोबारा हो सकता है कोरोना? ICMR ने दी जानकारी

इम्यूनटी पर निर्भर है सब कुछ

कोरोना से ठीक होने के लिए सबसे जरूरी मरीज की इम्यूनटी है। जितनी अच्छी इम्यूनटी होगी रोगी उतनी जल्दी ठीक हो जाएगा। इसके साथ साथ ही जिन्हें संक्रमण के बाद ज्यादा परेशानी नहीं है वे विशिष्ट दवाओं का सेवन ना करें।

इस अनोखे कैफे में खाएं जी भरकर खाना, नहीं होगी बिल की चिंता, कोई और करेगा Pay

वहीं जो मरीज अस्पताल में भर्ती हैं और सांस लेने के लिए मशीन पर पर हैं उन्हें रेमेडिसविर और एक स्टेरॉयड दिया जा सकता है। इसके साथ ही हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine) और कुछ दवाओं को कोरोना के खिलाफ असरदार नहीं हैं। बता दें जिन मरीज को कोरोना से सांस लेने में तकलीफ होती है तो उन्हें व्यायाम के जरिए सांस लेने लेने की कोशिश करनी चाहिए।

 
Vivhav Shukla
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned