एक दिन में सामने आए 381 नए पॉजिटिव, इन इलाकों में तेजी से फैल रहा कोरोना संक्रमण

चिंता की बात ये है कि, अनलॉक किये जाने से अब तक पॉजिटिव मरीजों की दर में 11 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज हो चुकी है, जो आगामी दिनों में और बढ़ने की संभावना है। जबकि, 5 फीसदी से अधिक दर के मायने हैं कि, संक्रमण नियंत्रण के बाहर है।

By: Faiz

Published: 17 Sep 2020, 02:24 PM IST

इंदौर/ मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। संक्रमण के सबसे बेकाबू हालात आर्थिक राजधानी इंदौर के हैं। बुधवार रात यहां कोरोना के 381 नए पॉजिटिव मरीज सामने आए, जबकि 6 की मौत हो गई। चिंता की बात ये है कि, अनलॉक किये जाने से अब तक पॉजिटिव मरीजों की दर में 11 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज हो चुकी है, जो आगामी दिनों में और बढ़ने की संभावना है। जबकि, 5 फीसदी से अधिक दर के मायने हैं कि, संक्रमण नियंत्रण के बाहर है। अब तक शहर में कुल संक्रमितों की संख्या 18321 हो चुकी है, जबकि 479 लोग अब तक अपनी जान गवा चुके हैं।

 

पढ़ें ये खास खबर- बस में सफर करना होगा 25 फीसदी महंगा! जल्द किराया बोर्ड लेगा बड़ा फैसला


शहर के दो इलाकों के हालात बेकाबू

प्राप्त अंतिम रिपोर्ट में बताए आंकड़ों के मुताबिक, संक्रमण के सबसे अधिक मामले शहर की पलसीकर कॉलोनी और ओल्ड पलासिया से सामने आए हैं। ओल्ड पलासिया में जहां 11 मरीज मिले। वहीं, पलसीकर कॉलोनी में जहां 10 लोगों में संक्रमण सामने आया। इसके अलावा 216 क्षेत्रों में मिले संक्रमित में से 7 ऐसे इलाके हैं, जहां पहली बार कोरोना के मरीजों की पुष्टि हुई है। इनमें शारदापुरी कॉलोनी, विजयगंज, घोड़ा कॉलोनी, शिवकृपा कॉलोनी, लोकपाल नगर, रविशंकर शुक्ला नगर शामिल है।

 

पढ़ें ये खास खबर- अस्पताल में शव बना कंकाल : मामले में कलेक्टर-एसपी की बढ़ी मुश्किल, मानवाधिकार आयोग ने मांगा जवाब


एक माह और दोगुनी हुई मरीजों की संख्या

शहर में कोरोना संक्रमण की रफ्तार की बात करें, तो यहां जून से जुलाई माह तक संक्रमण के मामले सामने आने की जो रफ्तार थी, उसकी मुकाबले इन दिनों हालात बेकाबू हैं। आंकड़ों पर गौर करें, तो पहले 9 हजार संक्रमित 142 दिन में सामने आए थे, जबकि 12 अगस्त को नौ हजार मरीज हुए थे, वहीं अब सिर्फ 37 दिनों के भीतर मरीजों की उतनी संख्या हुई है। यानी अब आंकड़ा 18 हजार के पार है। सितंबर माह के 15 दिन में हर दिन औसतन 312 मरीज सामने आए हैं, जबकि अप्रैल यह आंकड़ा सिर्फ औसतन 49 था। जानकारों की मानें तो सितंबर अंत तक 10 हजार और अक्टूबर अंत तक मरीजों की संख्या 20 हजार हो जाएगी। तब रोजाना औसतन 650 से 700 मामले सामने आने की संभावना है।

 

पढ़ें ये खास खबर- खुलासा : लंबे समय सिरदर्द रहना भी कोरोना का लक्षण, यहां बेकाबू संक्रमण पहुंचा 18 हज़ार के पार


अब तक लिए गए 2 लाख 61 हजार से ज्यादा सैंपल

बीते 24 घंटों के दौरान जिलेभर में 3004 नए सैंपल लिये गए। इसमें से 381 केस पॉजिटिव पाए गए, जबकि 2615 की रिपोर्ट निगेटिव प्राप्त हुई। छह मरीजों की रिपोर्ट रिपीट पॉजिटिव आई, जबकि दो सैंपल रिजेक्ट भी हुए। शुरु से अब तक जिलेभर में 2 लाख 61 हजार 499 मरीजों के जांच सेंपल लिये जा चुके हैं, जिनमें से 18321 संक्रमित पाए गए, जबकि इनमें से 13130 मरीज ठीक होकर घर भी लौट चुके हैं। वहीं, 479 लोगों की मौत हो चुकी है। फिलहाल, शहर में अब भी 4712 प़जिटिव केस एक्टिव हैं, जो या तो होम क्वारंटीन हैं या जिले के अलग अलग कोविड अस्पतालों में इलाजरत हैं।

coronavirus Coronavirus information
Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned