यूरिया उत्पादन में आत्मनिर्भर बनेगा भारत, 5 नए प्लांट्स से चीन पर निर्भरता होगी कम

  • मोदी सरकार ( Modi Govt ) देश में 2021 तक 4 नए यूरिया प्लांट्स ( Urea Plants ) शुरू करने का ऐलान किया है
  • यूरिया उत्पादन में 2023-24 तक आत्मनिर्भर बनेगा भारत

By: Pragati Bajpai

Published: 13 Jul 2020, 04:57 PM IST

नई दिल्ली : मोदी सरकार ( Modi Govt ) देश को आत्मनिर्भर ( Self Reliant ) बनाने के लिए दृढ़ प्रतिज्ञ है। इसी के साथ सरकार चीन के साथ व्यापार को भी बेहद कम कर देना चाहती है या यूम कहें कि खत्म कर देना चाहती है तो गलत नहीं होगा। इसी सिलसिले में सरकार ने एक बड़ा फैसला लेते हुए देश में 2021 तक 4 नए यूरिया प्लांट्स ( Urea Plants ) शुरू करने का ऐलान किया है। सरकार का मानना है कि इससे यूरिया के क्षेत्र में चीन पर निर्भरता कम ( Dependency On China ) करने में मदद मिलेगी, बल्कि सरकार एक और प्लांट्स 2023 तक लाने वाली है । इसीलिए कहा जा सकता है कि Made in india मिशन को इससे बूस्ट मिला है।

बच्चों के सुखी भविष्य के लिए इन योजनाओं में करें निवेश, नहीं होगी पैसों की कमी

आपको बता दें कि 2019-20 में भारत ने चीन से 854.56 मिलियन डॉलर कीमत का लगभग 2.9 मिलियन टन यूरिया निर्यात किया था। अधिकारियों का कहना है कि 1.27 मिलियन टन की क्षमता वाले इन यूरिया प्लांट्स के शुरू हो जाने से भारत 2023-24 तक यूरिया के क्षेत्र में आत्मनिर्भर हो जाएगा।

पहली नौकरी के बाद Investment Planning करें, 30 के होने से पहले करें यहां निवेश

इन पांचों प्लांट्स में से एक तो इसी साल अक्टूबर तक तैयार होने की बात कही जा रही है। तेलंगाना की रामागुडम स्थित ये प्लांट फिलहाल बंद पड़ा था जिस सरकार ने फिर से शुरू करने का फैसला का किया है । इस मामले में ये गोरखपुर, सिंदरी के राज्य संचालित प्लांट्स जैसा ही है।

शतावरी की खेती में है जबरदस्त कमाई, 50 हजार की लागत से होगा लाखों का मुनाफा

ये प्लांट इसी साल का करना शुरू कर देगा जबकि बाकी तीन अगले साल जून तक शुरू होंगे।

Show More
Pragati Bajpai
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned