scriptWill India get Moderna Covid Vaccine between 1900 and 2700 Dollars? | क्या भारत को 1900 से 2700 डॉलर के बीच पड़ेगा मॉडर्ना कोविड वैक्सीन? | Patrika News

क्या भारत को 1900 से 2700 डॉलर के बीच पड़ेगा मॉडर्ना कोविड वैक्सीन?

  • कंपनी के चीफ एक्जिक्यूटिव का आया बयान, सरकारों को 25 से 37 डॉलर प्रति डोज की कीमत पर देगी वैक्सीन
  • ईयू ने बीते सप्ताह 25 डॉलर प्रति डोज से कम कीमत पर मॉडर्ना से किया था संपर्क, अभी साइन नहीं हुई है डील

नई दिल्ली

Updated: November 22, 2020 02:55:55 pm

नई दिल्ली। दुनिया की बड़ी फॉर्मा कंपनियों में से मॉडर्ना की ओर से अपनी वैक्सीन की प्रति डोज की कीमत की घोषणा कर दी है। कंपनी के चीफ एक्जिक्यूटर स्टीफेन बैंसेल के अनुसार उनकी वैक्सीन की प्रति डोज की कीमत 25 से 37 डॉलर के बीच होगी। यह कीमत सरकारों के लिए होगी, साथ ही सरकारों के ऑर्डर के आधार पर कीमत तय की जाएगी। यानी अगर बात भारत के लिहाज से करें तो भारत सरकार को कंपनी एक डोज 1,800 रुपए से लेकर 2,700 रुपए तक पडऩे के आसार हैं।

Will India get Modern Covid Vaccine between 1900 and 2700 Dollars?
Will India get Modern Covid Vaccine between 1900 and 2700 Dollars?

यह भी पढ़ेंः- नवंबर के महीने में विदेशी निवेशकों ने 50 हजार करोड़ रुपए का किया निवेश

मॉडर्ना के वैक्सीन की कीमत
कंपनी के चीफ एक्जिक्यूटर स्टीफेन बैंसेल ने जर्मन वीकली को दिए इंटरव्यू के अनुसार उन्होंने दुनिया भर की सरकारों के लिए वैक्सीन की प्रति डोज की कीमत 25 से 37 डॉलर के बीच रखी गई है। यह कीमत सरकारों के ऑर्डर के आधार पर होगी। उन्होंने कहा कि इसलिए हमारे टीके की कीमत फ्लू शॉट के समान है, जो 10 और 50 डॉलर के बीच है।

यह भी पढ़ेंः- सरकार के खजाने में हुआ विदेशी दौलत का जबरदस्त इजाफा, जानिए कितनी बढ़ गई रकम

जल्द हो सकता है ईयू के साथ कांट्रैक्ट
बीते सोमवार को वार्ता में शामिल यूरोपीय संघ के एक अधिकारी ने कहा कि यूरोपीय आयोग अपने वैक्सीन उम्मीदवार की लाखों खुराक की 25 डॉलर प्रति खुराक से कम कीमत पर आपूर्ति के लिए मॉडर्न के साथ सौदा करना चाहता था। बैंसेल ने जर्मन वीकली को कहा कि कुछ भी साइन नहीं हुआ है, लेकिन हम ईयू कमीशन के साथ एक समझौते के करीब हैं। हम यूरोप पहुंचाना चाहते हैं और रचनात्मक बातचीत कर रहे हैं।

यह भी पढ़ेंः- वैक्सीन की खबर से सोना और चांदी हुआ सस्ता, दिवाली के बाद इतने गिर गए दाम

जारी की थी अपनी रिपोर्ट
मॉडर्न ने कहा है कि इसका प्रायोगिक टीका कोविड 19 को रोकने में 94.5 प्रतिशत प्रभावी है, जो एक लेट-स्टेज क्लिनिकल ट्रायल के अंतरिम आंकड़ों के आधार पर हैं। खास बात तो ये है कि फाइजर और उसकी बायोएनटेक की रिपोर्ट भी सामने आई है जिसने अपनी वैक्सीन को 95 फीसदी बेहतर बताया है। उससे पहले फाइजर ने अपनी रिपोर्ट में वैक्सीन को 93 फीसदी प्रभावी बताया था। आपको बता दें कि यूरोपीय संघ प्रयोगात्मक कोविड 19 वैक्सीन के लिए कम से कम जुलाई से मॉडर्न के साथ बातचीत कर रहा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Subhash Chandra Bose Jayanti 2022: इंडिया गेट पर लगेगी नेताजी की भव्य प्रतिमा, पीएम करेंगे होलोग्राम का अनावरणAssembly Election 2022: चुनाव आयोग का फैसला, रैली-रोड शो पर जारी रहेगी पाबंदीगोवा में बीजेपी को एक और झटका, पूर्व सीएम लक्ष्मीकांत पारसेकर ने भी दिया इस्तीफाUP चुनाव में PM Modi से क्यों नाराज़ हो रहे हैं बिहार मुख्यमंत्री नितीश कुमारPunjab Election 2022: भगवंत मान का सीएम चन्नी को चैलेंज, दम है तो धुरी सीट से लड़ें चुनाव20 आईपीएस का तबादला, नवज्योति गोगोई बने जोधपुर पुलिस कमिश्नरइस ऑटो चालक के हुनर के फैन हुए आनंद महिंद्रा, Tweet कर कहा 'ये तो मैनेजमेंट का प्रोफेसर है'खुशखबरी: अलवर में नया सफारी रूट शुरु हुआ, पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.