राजस्थान में युवा, दलितों को पद देकर संगठन मजबूत करेगी बसपा

— पार्टी अध्यक्ष मायावती के निर्देश मिलने के बाद प्रदेश संगठन तैयारी में जुटा, लखनऊ बैठक में मायावती ने साधा था राजस्थान में कांग्रेस और भाजपा पर निशाना

 

By: Pankaj Chaturvedi

Published: 03 Jul 2021, 12:34 AM IST

जयपुर. बहुजन समाज पार्टी प्रदेश में संगठन को मजबूत करने के लिए अधिक से अधिक युवाओं को पार्टी में पद देगी। लखनऊ में हुई बैठक में पार्टी अध्यक्ष मायावती की ओर से दिए गए निर्देशों के क्रियान्वयन को लेकर बसपा के प्रदेश पदाधिकारियों ने शुक्रवार को यहां बैठक की।
प्रदेशाध्यक्ष भगवान सिंह बाबा ने बताया कि 2023 के चुनावों की तैयारियों के मद्देनजर दलित, मुस्लिम और पिछड़े वर्ग के प्रतिनिधियों समेत सभी समाजों को पार्टी से जोड़ा जाएगा, ताकि अगले चुनाव में पार्टी बैलेंस ऑफ पावर बन सके। आगामी दिनों में सदस्यता अभियान में तेजी लाई जाएगी। हाल ही बसपा प्रमुख ने लखनऊ में हुई हिन्दी भाषी राज्यों के पदाधिकारियों की बैठक में यह निर्देश दिए थे।
नेताओं के टकराव से जनता परेशान: लखनउ की बैठक में मायावती ने भाजपा और कांग्रेस नेताओं के बीच आपसी टकराव को लेकर राजस्थान, मध्यप्रदेश और हरियाणा की सरकारों पर निशाना साधा था। मायावती ने कहा कि राजस्थान में कांग्रेस, मध्यप्रदेश में भाजपा और हरियाणा में भाजपा गठबंधन की सरकारों की जनविरोधी नीतियों के कारण जनहित के कार्य प्रभावित हो रहे हैं। इन राज्यों में नेताओं की आपसी खीचतान से राजनीतिक अस्थिरता पैदा हो रही है।

Pankaj Chaturvedi
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned