भतीजा ही निकला आरोपी, चाचा का उधार चुकाने के लिए रची थी साजिश

दोस्त के पास से किए पन्ने बरामद

By: Lalit Tiwari

Published: 03 Jul 2021, 10:13 PM IST

गलता गेट थाना पुलिस ने 15 लाख रुपए के पन्ने लूट के मामले में पर्दाफाश करते पीड़ित को ही गिरफ्तार किया हैं। चाचा का बकाया रुपए देने से बचने के लिए परिवादी ने ही लूट की झूठी कहानी रची थी।
एडिशनल डीसीपी सुमित गुप्ता ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी शिवाजी चौक ब्रह्मपुरी गलता गेट निवासी राकेश तिवारी (28) पुत्र रमेश है। पुलिस ने बताया कि एक जुलाई को भीड़भाड़ वाले इलाके में घर से दुकान लेकर जा रहे एक बैग में से 15 लाख रुपए के पन्ने के लूट होने की सूचना मिली थी। इस संबंध में राकेश तिवारी की तरफ से थाने में लूट का मामला दर्ज करवाया गया था। जिसके बाद थानाप्रभारी सतीश चंद्र के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया था। मामले में कॉल डिटेल एवं घटना से संबंधित लोगों से पूछताछ की गई तो कुछ संदेह हुआ. जिसके आधार पर सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए। परिवादी के बैंक खाते की जांच की गई तो किसी भी तरह का कोई बड़ा ट्रांजैक्शन होना सामने नहीं आया। पुलिस ने परिवादी रितेश तिवारी से सख्ती से पूछताछ की तो सामने आया कि रितेश तिवारी ने अपने चाचा से 1 लाख रुपए उधार लिए थे। रितेश के चाचा उस पर रुपए लौटाने के लिए दबाव बना रहे थे। जिसके चलते उसने अपने मालिक की ओर से दिए नगीनों की लूट होने की झूठी कहानी रची और नगीनों को अपने मित्र मनीष को दे दिए। पुलिस ने मनीष के कब्जे से नगीने बरामद कर लिए हैं। फिलहाल पुलिस गिरफ्तार आरोपी रितेश तिवारी से पूछताछ कर रही हैं।

Lalit Tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned