5.73 लाख हैक्टेयर में खेती का लक्ष्य, अब तक 12 फीसदी क्षेत्र में बुआई

Deepak Vyas

Publish: Jul, 13 2018 06:44:16 PM (IST)

Jaisalmer, Rajasthan, India
5.73 लाख हैक्टेयर में खेती का लक्ष्य, अब तक 12 फीसदी क्षेत्र में बुआई

-बारिश का इंतजार कर रहे मरुप्रदेश के भूमिपुत्र
-5.25 लाख हैक्टेयर जमीन पर नहीं होगी खेती

जैसलमेर. मरुस्थलीय जैसलमेर जिले में इस बार खरीफ के लिए 5.73 लाख हैक्टेयर क्षेत्र में खेती का लक्ष्य कृषि विभाग ने निर्धारित किया है। इसकी तुलना में अब तक 65 हजार 480 हैक्टेयर क्ष् ोत्र में ही फसलों की बुआई का कार्य हो पाया है। जिले के अधिकांश किसान मानसून के पुन: सक्रिय होने की बाट जोह रहे हैं। यहां यह उल्लेखनीय है कि जैसलमेर जिले में खेतीबाड़ी के लिए 11 लाख हैक्टेयर जमीन की उपलब्धता है। कृषि विभाग का बुआई का लक्ष्य पूरा भी हो जाता है तो करीब सवा पांच लाख हैक्टेयर क्षेत्र में बीज बोने का काम नहीं हो पाएगा। यानी इतनी बड़ी जमीन बे-काम रह जाएगी।

ग्वार पर ही खेलेंगे बड़ा दांव
खरीफ की फसल में जिले के किसान इस बारभी ग्वार पर ही सबसे बड़ा दांव लगाएंगे। जानकारी के अनुसार खेती लायक करीब दो-तिहाई जमीन पर किसान ग्वार की बुआई करने के लिए तैयार हैं। कृषि विभाग भी मानता है कि करीब चार लाख हैक्टेयर क्ष् ोत्र में ग्वार की बुआई की जाएगी। बाकी फसलों में बाजरा 1.05 लाख हैक्टेयर, मूंग 25 हजार, तिल, मूंगफली के लिए 10-10 हजार, अरंडी के लिए 5 हजार हैक्टेयर जमीन पर बुआई की जाएगी।

आधी जमीन पर नहीं चलेंगे हल
आए साल अकाल की मार से त्रस्त रहने वाले जैसलमेर जिले के किसान इस वर्ष अच्छी बारिश के आसार के बाद भी शत प्रतिशत कृषि क्षेत्र में बुआई नहीं कर पाएंगे। जानकारों के अनुसार जिले में 11 लाख हैक्टेयर से अधिक भूमि कृषि क्षेत्र है, लेकिन यहां खरीफ के लिए 5.73 लाख हैक्टेयर क्षेत्र में ही कृषि कार्य होना है। शेष जमीन कृषि के लिए उपयुक्त होने के बाद भी बुआई नहीं होने से अनाज पैदा नहीं कर रही। ऐसे में जिला प्रदेश स्तर पर पिछड़ रहा है। विशेषज्ञों के अनुसार इस साल मानसून की अच्छी मेहरबानी की उम्मीद है। शुरूआती रुझान के अनुसार रेगिस्तानी क्ष् ोत्र में भी इस बार अच्छी बारिश की उम्मीद को देखते हुए खरीफ की फसल में इजाफा होने के आसार है। शत प्रतिशत जमीन पर खेती कार्य नहीं होने से किसानों को करोड़ों रुपए का नुकसान झेलना पड़ेगा। गौरतलब है कि कृषि क्षेत्र के लिए चिह्नित भूमि का आवंटन नहीं होने या फिर जरूरत से अधिक किसानों के पास भूमि उपलब्ध होने के कारण ये हालात बने हैं।

विभाग ने बढ़ाया लक्ष्य
कृषि विभाग ने इस बार गत वर्ष के मुकाबले लक्ष्य में बढ़ोतरी करते हुए इस साल खरीफ की बुवाई का लक्ष्य 5.73 लाख हैक्टेयर निर्धारित किया है। पूर्व वर्षों में यह 5.20 लाख हैक्टेयर क्षेत्र में खरीफ की बुआई का लक्ष्य रखा गया था। जिले में इस साल गत साल की तुलना में अधिक पैदावार और बुवाई होने की उम्मीद जताई जा रही है।

फैक्ट फाइल
- 04 लाख हैक्टेयर में होगी ग्वार की बुआई
- 11 लाख हैक्टेयर कृषि क्षेत्र जैसलमेर जिले में
- 5.73 लाख हैक्टेयर में ही होनी है खेती
- 20 हजार से अधिक नलकूप जिले में
- 03 लाख हैक्टेयर असिंचित कृषि क्षेत्र

लक्ष्य हासिल होने की उम्मीद
इस वर्ष 5.73 लाख हैक्टेयर क्षेत्र में खरीफ की बुआई का लक्ष् य निर्धारित किया गया है। मानसून के सक्रिय होने की संभावनाएं बन रही हैं। ऐसे में लक्ष्य के अनुरूप भूमि पर बुआई की उम्मीद की जा सकती है। किसानों को बारिश के साथ बुआई शुरू कर देनी चाहिए।
-धनाराम गोदारा, उपनिदेशक, कृषि विभाग, जैसलमेर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned