... तो इस वजह से चंद दिनों में ही 10 लाख की लागत से बनी सीसी रोड की उड़ गई धज्जियां

... तो इस वजह से चंद दिनों में ही 10 लाख की लागत से बनी सीसी रोड की उड़ गई धज्जियां

Vasudev Yadav | Publish: Apr, 21 2019 06:58:45 PM (IST) | Updated: Apr, 21 2019 06:58:46 PM (IST) Janjgir Champa, Janjgir Champa, Chhattisgarh, India

- ग्रामीणों ने की मामले की शिकायत

जांजगीर-पहरिया. बलौदा ब्लॉक के ग्राम पंचायत नवागांव के आश्रित ग्राम सत्तीगुड़ी सरपंच ने १० लाख रुपए की लागत से ऐसी सड़क बनाई है जो छह माह भी नहीं टिक पाई। सड़क के चंद दिनों में परखच्चे उड़ गए। इससे सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि सरपंच ने गौण खनिज मद की राशि में किस तरह बंदरबांट किया है। बताया जा रहा है कि अब यह सड़क चार कदम भी चलने लायक नहीं है। जिसके चलते ग्रामीणजन परेशान हैं और मामले की शिकायत उच्चाधिकारियों से की है।

ग्राम के विकास में सरपंच के द्वारा सरकारी राशि में किस तरह बंदरबांट किया जाता है इसका जीता जागता उदाहरण बलौदा ब्लाक के नवागांव के आश्रित ग्राम सत्तीगुड़ी के विकास कार्य से देखा जा सकता है। गांव में सड़क नहीं थी। जिसकी समस्या को उच्चाधिकारियों को अवगत कराते हुए ग्रामीणों से सीसी रोड की मांग की थी। सीसी रोड के लिए शासन को प्रस्ताव भेजा गया। सरकार ने गौण खनिज मद से ग्राम पंचायत नवागांव के आश्रित ग्राम सत्तीगुड़ी के लिए तकरीबन १० लाख रुपए की लागत से सीसी रोड का निर्माण किया गया।

ग्रामीणों को उम्मीद थी कि सड़क बनेगी तो लोगों को आवागमन के लिए राहत मिलेगी, लेकिन ग्रामीणों का सपना उलट हो गया। सरपंच ने बलौदा जनपद अध्यक्ष के साथ मिलकर इस गांव में गौण खनिज मद की राशि से सड़क जरूर बना दिया, लेकिन यह सड़क पहली बारिश में ही धुल गई। जिसके चलते ग्रामीणों का सपना धरी की धरी रह गई। अब इस सड़क से ग्रामीणों को केवल धूल का गुबार मिल रहा, जिसके चलते ग्रामीणों में आक्रोश है। ग्रामीणों ने इसकी शिकायत उच्चाधिकारियों से की है।

Read More : मनमोहन सरकार में 54 लाख करोड़ का कर्ज था वहीं मोदी की सरकार में 82 लाख करोड़ का कर्ज है, सीएम ने पीएम पर निशाना साधते हुए ये भी कहा...

सरपंच ने कहा काम जनपद अध्यक्ष पति ने कराया
ग्रामीणों ने बताया कि गांव में अब चलने लायक सड़क नहीं रह गई है। क्योंकि सरकार से जो अपेक्षा थी वह तो पूरी हो गई, लेकिन सड़क बनाने वाले ने सरकारी राशि में बंदरबांट करते हुए गुणवत्ताहीन सड़क निर्माण कर ग्रामीणों की मंशा पर धूल झोंकने कोई कसर नहीं छोड़ा। स्थानीय जनप्रतिनिधियों को केवल कमीशन से सरोकार रहा है। उन्हें ग्राम के विकास के हित में कभी नहीं सोचा। जिसका खामियाजा ग्रामीणों को भुगतना पड़ रहा है। इधर सरपंच का आरोप है कि बजट की स्वीकृति जनपद पंचायत अध्यक्ष पति प्रेम साहू ने दिलाई थी, इस कारण सीसी रोड का निर्माण उन्हीं के देख-रेख में किया गया है। उनका यह भी कहना है कि सड़क बनते ही उसमें भारी वाहनों का आवागमन शुरु हो गया। जिसके चलते सड़क बहुत जल्दी खराब हो गई।

-सीसी रोड का निर्माण कार्य जरूर मेरे निगरानी में हुआ है, लेकिन काम को जनपद पंचायत अध्यक्ष पति प्रेम साहू ने कराया है। काम की गुणवत्ता में सवाल उठना स्वाभाविक है क्योंकि सीसी रोड बनते ही सड़क में बड़ी गाडिय़ां चलना शुरू हो गई। जिसके चलते सड़क चंद दिनों में बदहाल हुई है - कलेश्वरी सहिस, सरपंच नवागांव, बलौदा

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned