OMG: 6 घंटे की बारिश से नदी-नालों में आया उफान, 2 घंटे 200 बच्चों की अटकी जिंदगी

क्षेत्र में गुरुवार को छह घंटे की बारिश से सूखे नदी-नालों में उफान आ गया। गादिया नाले में आए उफान ने करीब दो घंटे तक सरकारी स्कूल के करीब दो सौ बच्चे अटके रहे।

By: ​Zuber Khan

Published: 20 Jul 2018, 12:59 AM IST

रामगंजमंडी. क्षेत्र में गुरुवार को छह घंटे की बारिश से सूखे नदी-नालों में उफान आ गया। इसी के साथ बरसाती पानी की निकासी के प्रबंध की पोल खुल गई। खैराबाद में खेतों से बहकर आने वाले पानी ने दु़पहिया वाहन चालकों की मुसीबत बढ़ा दी। गादिया नाले में आए उफान ने करीब दो घंटे तक सरकारी स्कूल के करीब दो सौ बच्चे अटके रहे। बाद में ग्रामीणों ने इन्हें चेन बनाकर गांव तक पहुंचाया।

 

Read More: कोटा में मूसलाधार बारिश से चंबल नदी उफनी, सड़क पर तीन फीट पानी, तेज बहाव में फंसे लोग

बारिश की शुरुआत तड़के पांच बजे हुई। करीब पन्द्रह मिनट तक तेज फिर रिमझिम और फिर तेज बारिश का दौर चलता रहा। प्रात: 11 बजे तक अनवरत हुई बारिश से खेत-खलिहानों से बहकर आए पानी से नालों मे उफान आ गया। नदियों में भी पानी की आवक हुई। खैराबाद -मोडक मार्ग पर बरसाती पानी की निकासी के लिए नाला नहीं बनाने से बरसाती पानी सड़क पर इस तरह फैला कि दुपहिया वाहन चालकों को इस मार्ग से गुजरने में परेशानी का सामना करना पड़ा। कई बाइक सवार सड़क के बीच पड़े गड्ढों में गिर गए। कुछ घरों में बरसाती पानी भर गया।

 

OMG: दो भाइयों को ट्रैक्टर-ट्रॉली ने कुचला, एक की मौत, दूसरे की हालत नाजुक

खैराबाद के ग्रामीणों का कहना है कि रीछडिय़ा तिराहे से मोडक की तरफ जाने वाली सड़क पर तेज बारिश में पानी फैलता है बरसाती पानी की निकासी का प्रबंधन नहीं होने से हर साल समस्या होती है लेकिन प्रशासन इसके समाधान पर ध्यान नहीं दे रहा है। बारिश से पत्थर स्टाकों में पानी भरने से पत्थर निकासी का कार्य ठप हो गया।

 

Read More: रावतभाटा में पुलिस मुकबर की निर्मम हत्या, बात करने के बहाने घर से बाहर बुलाया और सुनसान राह पर उतार डाला मौत के घाट

नाला उतरने का इंतजार करते रहे विद्यार्थी
गादिया गांव व स्कूल के बीच पडऩे वाला नाला विद्यार्थियों के लिए गुरुवार को परेशानी का सबब बन गया। सुबह आठ बजे विद्यार्थी स्कूल में पढऩे गए लेकिन स्कूल की छतें टपकने लगी तो शिक्षकों ने विद्यार्थियों की छुट्टी कर दी। विद्यार्थी घर आने लगे तो बीच रास्ते में नाला उफान पर था। ऐसे में विद्यार्थी यहां अटक गए। करीब दो सौ से ज्यादा विद्यार्थी नाले का वेग थमने का इंतजार करने लगे। बाद में ग्रामीणों ने बच्चों को गांव तक लाने के लिए नाले में एक-दूसरे का हाथ थामकर चेन बनाई और बच्चों को नाले के एक छोर से गांव वाले हिस्से की तरफ भेजा। करीब दो घंटे तक यह कार्रवाई चली।

 

Read More: उधारी चुकाने के लिए रखा अपराध की दुनिया में कदम, लाखों का माल उड़ाकर भागे बूंदी, जूतों ने पकड़वा दिया

दो हिस्सों में बंटा है गांव

गादिया के लोगों का कहना है कि नाले के कारण गांव दो हिस्सों में बंटा हुआ है। नाला उफान पर आता है तो दिक्कते बढ़ जाती है। जनप्रतिनिधियों को समस्या से अवगत कराया हुआ है। पुलिया का निर्माण होने से समस्या से निजात मिल सकती है।

 

अंडरपास में भरा पानी

रेलवे की ओर से बनाए गए अंडरपास में भी बरसाती पानी के भराव से राहगीरों व दुपहिया वाहन चालकों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। यहां पानी निकासी की व्यवस्था नहीं है।

 

Show More
​Zuber Khan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned