बिजली बिल ने उड़ाई किसान की नींद,घर में पंखा तक नहीं फिर भी थमा दिया लाखों का बिल

बिजली का भारी भरकम बिल देख तमोलिया गांव निवासी एक किसान परिवार की नींद उड़़ गई है।

By: shailendra tiwari

Published: 13 Mar 2018, 02:48 PM IST

रामगंजमंडी.

बिजली का भारी भरकम बिल देख तमोलिया गांव निवासी एक किसान परिवार की नींद उड़़ गई है। किसान को विद्युत निगम ने जनवरी 18 का बिजली का बिल एक लाख 86 हजार रुपए का भेजा है। इस किसान का कहना है कि उसके घर न पंखा है और न फ्रिज, इसके बावजूद इतनी राशि का बिल दिया गया है।

बिल से परेशान किसान शोभाराम गुर्जर के अनुसार जब वह बिल को ठीक कराने के लिए विद्युत निगम कार्यालय के चक्कर लगा रहा था इसी बीच फरवरी माह का बिल और आ गया। यह बिल एक लाख 91 हजार रुपए का है। शोभाराम बिल को दुरुस्त कराने के लिए चेचट निगम कार्यालय में कई चक्कर लगा चुका लेकिन उसकी समस्या का समाधान नहीं हुआ। निगम के अधिकारियों ने शोभाराम से पहले बिल की आधी राशि जमा करने व उसके बाद बिल को दुरुस्त करने की बात कही है। किसान की समस्या है कि वह इतनी राशि कहां से लाए।

Read More...तो इस तरह आप घर बैठे बन सकते हैं लखपति, जल्दी कीजिए कहीं मौका हाथ से न निकल जाए


ज्यादा राशि की शिकायत
शिविर में आए अधिकांश लोग मीटर में रीडिंग से ज्यादा राशि का बिल आने की समस्या लेकर पहुंचे। ऐसे लोगों की तादाद सैकड़ों में रही। इनमें आम उपभोक्ताओं के साथ किसानों भी थे। कोई पांच से दस हजार तो कोई लाखों रुपए का बिल लेकर शिविर में पहुंचा। दोपहर होते-होते भीड़ इतनी बढ़ गई की हर कोई अधिकारियों को अपनी समस्या नहीं बता सका। ऐसे में कई लोग अपनी समस्या का प्रार्थना पत्र अधिकारियों को सौंप लौट गए।

Read More: राजस्थान देश का पहला ऐसा राज्य जहां इलेक्ट्रोहोम्योपैथी से होगा मरीजों का इलाज

शिविर में लोगों ने जताई नाराजगी
विद्युत निगम से जुड़ी बिल ज्यादा आने, मनमाने बिल जारी करने जैसी कई समस्याओं से जूझ रहे लोगों को राहत देने के लिए निगम के स्थानीय एवं आला अधिकारी सोमवार को सांगोद में डटे रहे।
विधायक हीरालाल नागर के निर्देश पर पंचायत समिति कार्यालय में आयोजित समस्या समाधान शिविर में अधीक्षण अभियंता से लेकर अधिशासी अभियंता व बपावर, सांगोद तथा कनवास कार्यालयों के भी अधिकारियों ने मौजूद रहकर लोगों की समस्या जानी।

Read More: रुपहले पर्दे पर छाई कोटा की एक और बेटी, अब युवाओं के लिए खोलेगी बॉलीवुड के रास्ते

दोपहर बाद विधायक नागर भी शिविर में पहुंचे और अधिकारियों को समस्या निस्तारण के निर्देश दिए। शिविर में किसी को राहत मिली तो कोई फिर पहले की तरह मायूस लौटा। शिविर में उमड़ी लोगों की भीड़ के चलते अधिकारी एक-एक जने की समस्या नहीं सुन सके। इससे पूर्व शिविर जानकारी के बाद यहां निगम से जुड़ी समस्याओं को लेकर सुबह से ही उपभोक्ता पहुंचने लगे है। कोई हाथों में अर्जी थामे तो कोई बिलों का पुलिंदा थामे शिविर में पहुंचा। जनप्रतिनिधियों ने ने लोगों की समस्याओं पर अधिकारियों को निर्देशित किया।

shailendra tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned