scriptArmy handled in hospitals | राजस्थान के इस शहर के हालात हुए खराब, सेना ने संभाला मोर्चा | Patrika News

राजस्थान के इस शहर के हालात हुए खराब, सेना ने संभाला मोर्चा

चिकित्सक हड़ताल : रामपुरा में लगाया 7 सदस्यीय चिकित्सा दल, सेना ने संभाला अस्पताल में मोर्चा, देखे मरीज आईएमए सदस्यों ने काला रिबन बांधकर जताया विरोध।

कोटा

Published: December 22, 2017 12:20:01 pm

कोटा . सेवारत चिकित्सक व रेजीडेंट्स हड़ताल के चलते चरमराती व्यवस्था के बीच सेना ने सरकारी अस्पताल में मोर्चा संभाल लिया है। सेना के चिकित्सकों ने गुरुवार को रामपुरा जिला अस्पताल में आने वाले मरीजों का उपचार किया। यहां सेना के चिकित्सकों के साथ नर्सिंग व अन्य टेक्निशियन स्टाफ भी मौजूद रहा। सेना की ओर से जारी विज्ञप्ति में बताया गया कि जिला अस्पताल में 2 चिकित्सक और 5 नर्सिंगकर्मी लगाए गए हैं। इनके साथ ही दो एंबुलेंस भी भेजी गई हैं। गुरुवार को इस टीम ने 114 रोगियों को परामर्श दिया, उपचार किया।
Doctors Strike, Administration Alert, Collector Rohit Gupta, Emergency meeting, Review of arrangements, Problems of patients, Officers, Government Clinics, Doctors, Army, Railway, Department of Ayurveda, Kota, Kota Patrika, Kota Patrika News, Rajasthan Patrika
army-handled-in-hospitals
यह भी पढ़ें

अाने वाले समय में कोटा को पहचानना हो जाएगा मुश्किल, ऐसे बदल जाएगा शहर का रूप

काली रिबन बांध जताया विरोध

इधर, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के सदस्यों ने सेवारत चिकित्सकों की हड़ताल का समर्थन किया। कोटा संभाग से जुड़े करीब आठ सौ सदस्यों ने गुरुवार को काली रिबन बांधक विरोध जताया। आईएमए के प्रेसिडेंट डॉ. जसवंत सिंह व सचिव डॉ. अमित यादव ने बताया कि प्रदेश में सेवारत चिकित्सक गत चार माह से आंदोलनरत हैं। सरकार सुध नहीं ले रही। उल्टे समझौते के बाद भी दमनात्मक कार्रवाई कर रही है। इसके विरोध स्वरुप कोटा संभाग के सभी चिकित्सक प्रतिदिन काला रिबन बांधकर कार्य करेंगे। एसोसिएशन सदस्य शुक्रवार को सुबह 9 से 11 बजे तक पेनडाउन हड़ताल करेंगे। 25 दिसम्बर तक प्रतिदिन पेनडाउन हड़ताल करेंगे, इसमें रोजाना एक घंटे का समय बढ़ाया जाएगा।
यह भी पढ़ें

यह भी पढ़ें

https:/www.patrika.com/kota-news/the-body-found-in-bhanwarkun-was-identified-as-love-chowdhary-1-2131257/" target="_blank"> मैं नहीं बन सका अच्छा बेटा, अब तुम दोनों को रखना होगा मम्मी-पापा का ध्यान

रुटीन ऑपरेशन ठप, इमरजेंसी के 13 हुए

सेवारत चिकित्सकों की हड़ताल के कारण ईएसआई अस्पताल खाली हो गया। 100 बेड के इस अस्पताल में मंगलवार तक 30 मरीज भर्ती थे, लेकिन गुरुवार तक 9 ही मरीज भर्ती रह गए। चिकित्सक नहीं होने के कारण शेष सभी मरीज छुट्टी करवा कर चले गए। अस्पताल प्रभारी डॉ. बीएल गोचर ने बताया कि अस्पताल में 17 चिकित्सक कार्यरत हैं। इनमें से 2 ही कार्य कर रहे हैं। एमबीएस, जेके लोन, मेडिकल कॉलेज अस्पताल व डिस्पेंसरियों में आउटडोर व इंडोर में मरीजों की संख्या कम हो गई है। जांचों की संख्या में भी कमी आ गई है। इमरजेंसी जांचें ही लिखी जा रही हैं। ऑपरेशन थियेटर प्रभारी एससी. दुलारा ने बताया कि मेडिकल कॉलेज अस्पताल में 6, जेके लोन में 3 व एमबीएस अस्पताल में 4 इमरजेंसी केस ही हुए। रेजीडेंट्स के अभाव में रुटीन के ऑपरेशन ठप पड़े है।
यह भी पढ़ें

बदलने जा रहा ट्रेनों का कलेवर, आने वाले समय में कुछ इस तरह दिखार्इ देगी आपकी ट्रेन

गंभीर मरीज भी नहीं कर रहे भर्ती

मेडिकल कॉलेज अस्पताल में रेजीडेंट्स के अभाव में एचओडी व चिकित्सक गंभीर मरीजों को भर्ती करने से भी कतराने लगे हैं। एेसा हाल गुरुवार को देखने को मिला। यहां मदनपुरा पंचायत की प्रकाशी बाई को सांस की तकलीफ होने पर परिजन उसे लेकर मेडिकल कॉलेज अस्पताल पहुंचे। उनकी गंभीर स्थिति थी। परिजन उन्हें भर्ती करवाना चाहते थे, लेकिन चिकित्सकों ने हड़ताल हड़ताल खत्म होने के बाद भर्ती करेंगे, तब आना। बाद में राजस्थान पत्रिका संवाददाता के दखल के बाद चिकित्सक बीएल बंशीवाल ने उन्हें भर्ती किया। उनका कहना था कि हमने परिजनों को भांप सेकने के लिए कहा था, मरीज को भर्ती करने से मना नहीं किया।
यह भी पढ़ें

City Pride: हर तकलीफ से लड़ कर करते है दूसरों की मदद, मरीजों के मसीहा बने सोनी

पुलिस ने कसा है शिकंजा

सेवारत चिकित्सक संघ के प्रदेश महासचिव दुर्गाशंकर सैनी ने बताया कि सेवारत चिकित्सक कार्यों पर जाना चाहते हैं, लेकिन सरकार द्वारा चिकित्सकों पर पुलिस शिकंजा कसा जा रहा है। सरकार दखल दे और मरीजों को राहत प्रदान करे। सरकार 2011 से पदोन्नत चिकित्सकों के मामले में भी समझौते के मुताबिक आदेश जारी करे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Group Sites

Trending Stories

इन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठाLiquor Latest News : पियक्कडों की मौज ! रात एक बजे तक खरीदी जा सकेगी शराबशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफMorning Tips: सुबह आंख खुलते ही करें ये 5 काम, पूरा दिन गुजरेगा शानदारDelhi Schools: दिल्ली में बदलेगी स्कूल टाइमिंग! जारी हुई नई गाइडलाइनMahindra Scorpio 2022 का लॉन्च से पहले लीक हुआ पूरा डिजाइन और लुक, बाहर से ऐसी दिखती है ये पावरफुल कारबैड कोलेस्‍ट्राॅल और डिमेंशिया को कम करके याददाश्त को बढ़ाता है ये लाल खट्‌टा-मीठा फल, जानिए इसके और भी फायदेAC में लगाइये ये डिवाइस, न के बराबर आएगा बिजली बिल, पूरे महीने होगी भारी बचत

बड़ी खबरें

पटना एयरपोर्ट पर बड़ा हादसा, निर्माण कार्य के दौरान गिरा लोहे का स्ट्रक्चर, दो मजदूरों की मौत, एक की टूटी रीढ़ की हड्डीPM मोदी तक पहुंची अल्मोड़ा की 'बाल मिठाई', स्टार शटलर लक्ष्य सेन ने ऐसा पूरा किया अपना वायदाराजस्थान में 50 हजार अपराधियों की बनेगी'कुंडली' थाना स्तर पर बनेगा डोजीयरविश्व प्रसिद्ध धार्मिक स्थल हेमकुंड साहिब और लक्ष्मण मंदिर के खुले कपाट, दो साल बाद लौटी रौनकPetrol-Diesel Prices Today: केंद्र के बाद राज्यों ने घटाए पेट्रोल-डीजल के दाम, जानें कितनी हैं आपके शहर में कीमतेंCheapest Home Loan: ये बैंक दे रहे हैं सबसे सस्ता होम लोन, यहां देखिए पूरी लिस्टQuad Summit 2022: प्रधानमंत्री मोदी का जापान दौरा, क्वाड शिखर सम्मेलन में बाइडेन से अहम मुलाकात, जानें और किन मुद्दों पर होगी बातGama Pehlwan के 144वें जन्मदिन पर गूगल ने बनाया डूडल, एक दिन में खाते थे 6 देसी मुर्गे और 10 लीटर दूध
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.