Breaking News: कोटा में आसाराम भक्तों ने किया हवन यज्ञ, फैसला सुनते ही आंखों से बह निकले आंसू

गुरुकुल की नाबालिग छात्रा से दुष्कर्म के आरोप में 56 माह से जेल में बंद आसाराम व उसके सेवादारों को लेकर कोर्ट ने फैसला सुना दिया गया है।

By: ​Zuber Khan

Published: 25 Apr 2018, 01:22 PM IST

कोटा . गुरुकुल की नाबालिग छात्रा से दुष्कर्म के आरोप में 56 माह से जेल में बंद आसाराम व उसके सेवादारों को लेकर कोर्ट ने फैसला सुना दिया गया है। न्यायाधीश मधुसूदन शर्मा ने आसाराम को दोषी करार दे दिया है। फैसला आते ही आसाराम के समर्थकों में निराशा छा गई। इससे पहले कोटा के लखावा स्थित आसाराम आश्रम में समर्थकों ने हवन यज्ञ कर रिहाई के लिए प्रार्थनाएं की लेकिन काम नहीं आई।

Special News: इस मामले में महिलाओं से आगे निकल रहे पुरुष, कमा रहे लाखों

कोटा से लखावा पहुंचे भक्त
आसाराम की रिहाई के लिए भक्तों ने लखावा स्थित आश्रम में हवन-यज्ञ किया। इसमें शामिल होने के लिए कोटा से करीब 50-60 भक्त पहुंचे। सुबह 9 बजे से ही भक्तों का यहां पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया, जो दोपहर 12 बजे तक जारी रहा। आसपास के क्षेत्रों से भी बड़ी संख्या में भक्त वहां पहुंचे और हवन यज्ञ कर रिहाई की कामना की। लेकिन, जैसे ही कोर्ट का फैसला आया तो सभी भक्त निराश हो गए। कई भक्तों की आंखों से आंसू बह निकले। उन्हें अभी भी उम्मीद है कि बाबा जल्द ही रिहा हो जाएंगे।

OMG! कोटा के अस्पतालों में एसी, पंखे-कूलर बंद, 40 डिग्री टेम्प्रेचर में तप रहा मरीज

पुलिस ने संभाला मोर्चा
आसाराम पर फैसले को लेकर पुलिस ने सुबह से ही मोर्चा संभाल लिया। थानाधिकारी अमर सिंह ने बताया कि आश्रम के आस पास पुलिस जाब्ता तैनात किया है। ताकि, विवाद की स्थिति से तुरंत निपटा जा सके। कहीं कोई स्थिति बिगड़ती भी है, तो पुलिस उससे निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है। उन्होंने कहा, शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए आश्रम के आसपास पुख्ता व्यवस्था तैनात की गई है। आश्रम में भक्तों ने शांतिपूर्ण तरीके से हवन किया और दोपहर एक बजे तक अधिकतर कोटा चले गए।

Breaking News: दबंगों की दबंगई- बूंदी में दलित दूल्हे को घोड़ी पर बैठने से रोका, देर रात पुलिस पहरे में निकली निकासी

Show More
​Zuber Khan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned