पत्रिका स्टिंग: कोटा के इन इलाकों में रात-दि‍न सजती है सटोरियों की महफिल, माफिया इसकी भी देते हैं सुविधा...

Zuber Khan

Publish: Jun, 13 2019 02:42:23 PM (IST)

Kota, Kota, Rajasthan, India

कोटा. कभी चोरी-छिपे चलने वाला सट्टा बाजार आज कानून की ढीली पकड़ की वजह से खुलेआम चल रहा है। ओपन, क्लोज और रनिंग के नाम से चर्चित इस खेल में जिस प्रकार सब कुछ ओपन हो रहा है उससे यही लगता है कि सट्टा माफिया को कानून का डर नहीं है। खाईवाल व सटोरिए इतने बेखौफ हैं कि पुलिस के संरक्षण में ही सट्टा बाजार चलाते हैं। माफियाओं द्वारा सटोरियों के लिए एयरकंडीशन रूम, शराब सहित अन्य सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाती है। इतना ही नहीं झुग्गी झौंपड़ी से लेकर आलीशान मकानों में बेधड़क सट्टे पर दांव खेला जाता है। स्थानीय निवासियों ने पुलिस को शिकायत भी की लेकिन कार्रवाई नहीं हुई। शहर में ऐसे कई इलाके हैं जहां खुलेआम सट्टा चलता है। पेश है खास रिपोट...

Read More: झुग्गी झौंपड़ी से लेकर आलीशान मकानों में बेखौफ चलता सट्टा बाजार, माफिया बोले-बेधड़क खेलों, गारंटी है नहीं आएगी पुलिस

विज्ञान नगर
विज्ञान नगर विस्तार योजना में पानी की टंकी के आगे गली में दुमंजिला मकान में दिनभर जुए सट्टे चलता है। मकान के बाहर तीन चार युवक खड़े रहते है, जो भी जुआ सट्टा खेलने आता है उसे मकान में भेजकर मुख्य द्वार पर ताला लगा देते है। मकान में अन्दर जाने वालों के मोबाइल और इलेक्ट्रोनिक गैजेट बाहर ही रखवा लिए जाते हैं। मकान के अंदर सटोरियों के लिए सभी सुविधाओं का खास ख्याल रखा जाता है। यहां शराब, नमकीन, चखना सहित अन्य व्यवस्थाएं भी उपलब्ध करवाई जाती है।

Read More: सट्टा खेलने से पहले सटोरियों को लेनी होती है 4 तरह की मेम्बरशिप, ढाई लाख तक है सट्टा कम्पनियों की फीस

संजय नगर
संजय नगर में उडिय़ा बस्ती में यूआईटी के पार्क की दीवार के सहारे रेलवे लाइन की ओर लम्बी चौड़ी टापरी बनाकर अवैध जुए सट्टे का धंधा चला रखा है। इस टापरी में बैठकर दिनभर जुआ सट्टा खेलने वालों का तांता लगा रहता है। यहां आने वाले लोगों की पार्किंग भी पार्क के अंदर की जाती है। पार्क के अन्दर व आस पास दिनभर लोग बैठकर शराब पीते रहते है।

Read More: खुलासा: ऑनलाइन हुआ सट्टे का धंधा, मोबाइल एप और विदेशी वेबसाइटों से हो रहा करोड़ों का कारोबार, पढि़ए कैसे चलता है सट्टा बाजार

ज्वाला तोप पार्क
ज्वाला तोप पार्क के अन्दर खुल्लेआम सुबह से रात्रि 12 बजे तक अवैध रूप से सट्टे की पक्की पर्चियां काटी जाती है। दो लोग अन्दर बैठकर पर्चियां काटते है तथा दो लोग बाहर चाय की दुकान पर बैठकर पुलिस व अन्य गतिविधियों पर नजर रखते है। पार्क के पास फायर निगम की दीवार के सहारे ऑटो मिी की दुकानें है। यहां पर आने वाले ऑटो चालकों ने बताया कि दिनभर पार्क में सट्टा लगाने वालों का तांता लगा रहता है।


कैथूनीपोल
कैथूनीपोल थाने के पीछे रेतवाली में देशी शराब के ठेके के सामने एक दुकान में अन्दर बैठने की व्यवस्था है। यहां भी सट्टा चलता है। स्थानीय लोगों का कहना है कि पुलिस के जवान सादा वर्दी में यहां आते रहते हैं, लेकिन कार्रवाई नहीं करते।

BIG News: बहन ने चादर ओढ़ सो रहे जीजा को समझा भाई, पेट्रोल डाल लगा दी आग, शादी के घर में मचा कोहराम

सुभाष नगर
सुभाष नगर स्थित श्मशान रोड पर स्थित एक निजी अस्पताल के सामने सड़के के दूसरी और जूस की दुकानों के पीछे कुछ लोग दिनभर खुले में कच्ची पर्चियों पर सट्टा खेलते हैं।

 

मेडिकल कॉलेज रोड
आरकेपुरम मार्ग पर मेडिकल कॉलेज के मुख्य प्रवेश द्वार से पहले एक चाय की थड़ी पर सट्टे की पर्चियों पर लोगों से दांव लगाया जाता है। राहगीर इसे चाय की दुकान समझते हैं, इसलिए यहां बैठने वालों पर शक नहीं होता।

BIG News: 61 हजार रुपए के लिए सरकार ने कोटा के 12 लाख लोगों की जिंदगी डाल दी खतरे में

चम्बल गार्डन
चम्बल गार्डन के सामने वक्फबोर्ड कच्ची बस्ती में एक मकान में दिनभर सट्टे की पर्चियों पर लोगों से दांव लगाया जा रहा है। दिनभर यहां भी सटोरियों की भीड़ लगी रहती है। स्थानीय लोगों ने बताया कि यहां आए दिन झगड़े होते हैं। मोहल्ले के लोग भी परेशान है, लेकिन कर कुछ नहीं सकते।


बापू नगर
कुन्हाड़ी स्थित बापू नगर कच्ची बस्ती में एक होटल के पीछे दिनभर खुले में सट्टे की पक्की पर्चिंयों पर अवैध धंधा चल रहा है। यहां दिनभर दो लड़के बैठकर सट्टे की पर्चियां काटते रहते है। स्थानीय लोगों का कहना है कि आसपास रहने वालों का इस गोरखधंधे के चलते जीना दुश्वार हो रहा है।

 

पुरानी सब्जीमंडी
पुरानी सब्जीमंडी में फायर स्टेशन के पीछे पक्की दुकान के आगे तिरपाल, बोरियों से झोपड़ी बना रखी है। इस स्थान पर सट्टा चलता है। दिनभर लोगों की आवाजाही लगी रहती है। झोपड़ी के बाहर मुड्ढे पर एक व्यक्ति बैठकर आने जाने वाले लोगों पर नजर रखता है।

Video: शर्मनाक: प्रसूता को नर्सिंगकर्मी ने अस्पताल में घुसने नहीं दिया, 2 घंटे दर्द से तड़पती और रोती रही, सड़क पर हो गया प्रसव

श्रीपुरा
श्रीपुरा में शिक्षा विभाग के कार्यालय पास गली में एक मकान में दो कमरे किराए पर लेकर सटोरिए खुले आम सट्टा खिला रहे हैं। यहां अन्दर बिठाकर लोगों को सट्टा खिलाया जा रहा है, साथ ही पर्ची भी काटी जा रही है। मोहल्लेवासी भी इस सबसे खासे परेशान हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned