हाड़ौती के किसानों के खेतों में खुशहाली लाएगी सोयाबीन

राजस्थान में सोयाबीन उत्पादन में अव्वल रहने वाले हाड़ौती के किसानों के लिए कोरोना संकट काल में खुशखबर आई है। खरीफ सीजन में किसान सोयाबीन की नई किस्म की बुवाई कर अधिक उत्पादन ले सकेंगे।

By: Haboo Lal Sharma

Published: 24 May 2020, 09:49 PM IST

कोटा. राजस्थान में सोयाबीन उत्पादन में अव्वल रहने वाले हाड़ौती के किसानों के लिए कोरोना संकट काल में खुशखबर आई है। खरीफ सीजन में किसान सोयाबीन की नई किस्म की बुवाई कर अधिक उत्पादन ले सकेंगे। इससे किसानों की आय में वृद्धि होगी। कोटा के कृषि वैज्ञानिकों ने अथक प्रयासों से सोयाबीन की नई किस्म इजाद की है। कोटा खण्ड में सोयाबीन की नई किस्म एनआरसी 127 की सिफारिश की गई है।

Read More: टिड्डी दल के खात्मे के लिए चारों जिलों में दवाइयां भेजी


इस किस्म की फ सल 97 से 105 दिन में पक जाएगी और उत्पादन 20 से 23 क्विंटल हैक्टेयर होगा। जो अन्य किस्मों के मुकाबले अधिक है। इस किस्म की खासियत यह है कि कम पानी में अधिक उत्पादन देने वाली है। साथ ही, पकने की अवधि भी कम है। नई किस्म एनआरसी 127 की खरीफ सीजन में बुवाई की सिफारिश की गई है। गत दिनों कोटा के कृषि अनुसंधान केन्द्र कोटा में संभागीय अनुसंधान एवं प्रसार सलाहकार समिति की बैठक में नई किस्म की अनुसंधान निष्कर्षों पर मंथन किया गया। अनुसंधान केन्द्र के निदशक डॉ. प्रतापसिंह ने सोयाबीन की नई किस्म को लॉन्च करते हुए इसके फायदे बताए। सोयाबीन की इस किस्म को भारतीय कृषि अनुसंधान की मुहर लगाई जा चुकी है।

Award for Real Heroes Covid-19 Doctors Covid-19 Medical Staff
Show More
Haboo Lal Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned