डेयरी घोटालेबाजों पर गिर सकती है गाज ! मंत्री तक पहुंची शिकायत...

पत्रिका के खुलासे के बाद विभाग हरकत में आया विभाग, कोटा डेयरी की चेहती फर्म पर कसा शिकंजा, थमाया नोटिस

 

 

By: Suraksha Rajora

Published: 01 Jul 2019, 07:15 PM IST

 

कोटा. सहकारिता विभाग ने कोटा डेयरी प्रबंधन की चेहती फर्म चित्रांशु पूर्व सैनिक बहुउद्देश्यीय सहकारी समिति पर शिकंजा कस लिया है। अनियमितताओं के चलते समिति को (अवसायन) समाप्त करने की तैयारी कर ली है। उधर पशुपालन मंत्री प्रमोद जैन भाया तक डेयरी के प्रबंध निदेशक और लेखाधिकारी के घोटाले की जांच रिपोर्ट पहुंचने के बाद भी कार्रवाई नहीं होने से सवाल उठ रहे हैं। दोनों अधिकारी कार्रवाई से बचने के लिए जुगाड़ में लगे हुए हैं।

चहेती फर्म से डेयरी अध्यक्ष के रिश्तेदारों की एन्ट्री, फिर होता था खेल...


राजस्थान पत्रिका ने डेयरी में श्रम विभाग का फर्जी प्रमाण पत्र लगाकर लेबर सप्लाई का अनुचित तरीके से ठेका लेने तथा डेयरी के दोनों अधिकारियों द्वारा समिति का बचाव करने का मामला प्रमुखता से प्रकाशित किया था। फर्म और दोनों अधिकारियों को सहकारिता विभाग तथा एसीबी जांच में भी दोषी माना गया था। यह मामला मंत्री तक पहुंच गया।

मंत्री के संभाग में कोटा डेयरी में घोटालों की लंबी फेहरिस्त... दबंग चेयरमैन के इशारे पर हो रहा ये खेल,जानिए क्या है पूरा माजरा

उधर सहकारी समितियां कोटा के उप रजिस्ट्रार ने चित्रांशु सहकारी समिति के व्यवस्थापक को नोटिस जारी कर दिया है। इसमें कहा कि आपकी समिति की कई सालों से आमसभा नहीं हुई है, जबकि सहकारी अधिनियम में हर साल आमसभा करवाना अनिवार्य होता है, न निर्वाचन करवाकर विभाग को सूचित किया है। समिति का कई सालों से ऑडिट भी नहीं हुआ है।

समिति के क्रिया-कलापों की सूचना भी विभाग को नहीं दी। कार्यालय रिकॉर्ड के अनुसार चित्रांशु सहकारी समिति कई सालों से निष्क्रिय है। सहकारी अधिनियमों के अनुरूप समिति काम नहीं कर रही है। अत: समिति को अवसायन में लाया जाना आवश्यक हो गया है।

उप रजिस्ट्रार के समक्ष 2 जुलाई को सुबह 11 बजे पेश होकर लिखित व मौखिक जवाब पेश करने का समय दिया गया है। इसके बाद समिति को राजस्थान सहकारी सोसायटी अधिनियम 2001 की धारा 61के तहत अवसायन में लाए जाने की अग्रिम कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

BJP Congress
Show More
Suraksha Rajora
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned