scriptKota Student Suicide : कोटा में 6 महीने में 11वां सुसाइड, रोशनदान में लटका मिला JEE स्टूडेंट का शव | Kota Student Suicide : JEE student commits suicide, 11th suicide in Kota 6 months | Patrika News
कोटा

Kota Student Suicide : कोटा में 6 महीने में 11वां सुसाइड, रोशनदान में लटका मिला JEE स्टूडेंट का शव

देश में कोचिंग सिटी यानी शिक्षा की काशी के नाम से विख्यात राजस्थान के कोटा में स्टूडेंट्स के सुसाइड का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है।

कोटाJun 16, 2024 / 12:16 pm

Anil Prajapat

Mahaveer Nagar Police Station
Kota Suicide : कोटा। देश में कोचिंग सिटी यानी शिक्षा की काशी के नाम से विख्यात राजस्थान के कोटा में स्टूडेंट्स के सुसाइड का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। कोटा शहर में एक और स्टूडेंट ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। घटना कोटा के महावीर नगर थाना इलाके की है। बिहार के मोतिहारी का रहने वाला आयुष कोटा में रहकर जेईई की तैयारी कर र​हा था। इस साल कोटा में अब तक 11 स्टूडेंट सुसाइड कर चुके हैं।
महावीर नगर थाने के एसएचओ महेन्द्र मारू ने बताया कि देर रात 10 बजे एक छात्र के सुसाइड की सूचना मिली। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची। मामले के अनुसार बिहार के मोतिहारी निवासी 17 साल का छात्र आयुष कोटा में रहकर जेईई की तैयारी कर रहा था। वह महावीर नगर इलाके में सम्राट चौक के पास एक पीजी में रह रहा था। शनिवार रात तक वह कमरे से बाहर नहीं आया।
इस पर उसके साथियों ने दरवाजा खटखटाया, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। महावीर नगर थानाधिकारी महेन्द्र मारू के अनुसार छात्र के दरवाजा नहीं खोलने पर पीजी संचालक ने पुलिस को जानकारी दी। जानकारी मिलने पर महावीर नगर पुलिस मौके पर पहुंची और पीजी में कमरे का दरवाजा तोड़ा।

रोशनदान में लटका मिला स्टूडेंट का शव

अंदर स्टूडेंट का शव फंदे पर रोशनदान में लटका मिला। पुलिस ने उसे उतारकर न्यू मेडिकल कॉलेज अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मामले में महावीर नगर एसएचओ महेन्द्र मारू के अनुसार कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। स्टूडेंट जेईई की तैयारी कर रहा था। उसके घरवालों के आने के बाद ही और ज्यादा जानकारी सामने आ सकेगी।
यह भी पढ़ें

राजस्थान में यहां जागरण के बीच मौत का तांडव, डीजे की धुन के बीच एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत

कोटा में इस साल अब तक 11 स्टूडेंट कर चुके सुसाइड

कोटा में पिछले साल की तरह इस साल भी सुसाइड के मामले बढ़ते ही जा रहे है। इस साल 15 जून तक 11 स्टूडेंट्स सुसाइड कर चुके है।
15 जून : कोटा के महावीर नगर इलाके में एक पीजी में रह रहे छात्र आयुष ने देर रात खुदकुशी कर ली। वह बिहार के मोतिहारी का रहने वाला था और कोटा में रहकर जेईई की तैयारी कर रहा था।
30 अप्रैल : नीट की तैयारी कर रहे छात्र भरत का शव फांसी पर लटका मिला। वह राजस्थान के धौलपुर का रहने वाला था।
28 अप्रैल : नीट की तैयारी कर रहे सुमित ने फंदा लगाकर जान दे दी। वह हरियाणा के रोहतक का रहने वाला था।
27 मार्च : उत्तर प्रदेश के लखनऊ की रहने वाली छात्रा का शव पंखे पर लटका मिला।
26 मार्च : नीट की तैयारी कर रहे छात्र उरूज ने पंखे से फंदा लगाकर जान दे दी थी। वह उत्तर प्रदेश के कन्नौज के रहने वाला था।
8 मार्च : जेईई की तैयारी कर रहे अभिषेक ने जहर खाकर अपनी जान दी थी। वह बिहार के भागलपुर का रहने वाला था।
20 फरवरी : जेईई की तैयारी कर रहे छात्र रचित का शव जंगल में मिला था। वह मध्यप्रदेश के राजगढ़ का रहने वाला था।
13 फरवरी : कोटा के महावीर नगर में रह रहे छात्र शुभकुमार चौधरी ने फंदा लगाकर खुदकुशी की थी। वह छत्तीसगढ़ का रहने वाला था।
2 फरवरी : कोटा में रहकर पढ़ाई करने वाले छात्र नूर मोहम्मद ने भी फांसी लगाकर जान दी थी। वह उत्तर प्रदेश के गोंडा का रहने वाला था।
29 जनवरी : जेईई की तैयारी कर रही निहारिका ने सुसाइड नोट लिखने के बाद खुदकुशी की थी। वह कोटा के बोरखेड़ा की रहने वाली थी।
24 जनवरी : नीट की तैयारी कर रहे छात्र मोहम्मद ने फंदे से लटककर खुदकुशी की थी। वह उत्तरप्रदेश के मुरादाबाद का रहने वाला था।

Hindi News/ Kota / Kota Student Suicide : कोटा में 6 महीने में 11वां सुसाइड, रोशनदान में लटका मिला JEE स्टूडेंट का शव

ट्रेंडिंग वीडियो