जैक मा की एक झलक पाते ही 58 अरब डॉलर कमा गई अलीबाबा

  • मा की वीडियो सामने आते बुधवार को अलीबाबा के शेयरों में 6.8 फीसदी की देखने को मिली तेजी
  • शेयरों में तेजी के आने के बाद अलीबाबा की मार्केट वैल्यू में हो गया 58 बिलियन डॉलर का इजाफा

By: Saurabh Sharma

Updated: 21 Jan 2021, 03:35 PM IST

नई दिल्ली। अपने बारे में सभी अटकलों को समाप्त करते हुए, अलीबाबा के सह-संस्थापक जैक मा सार्वजनिक रूप से फिर से नजर आए। जैक मा के गायब होने की खबरें ऐसे समय आई थी, जब चीनी नियामकों ने उनकी कंपनी के खिलाफ कार्रवाई तेज कर दी थी। उन्हें दोबारा देखे जाने की खबर चीनी सोशल मीडिया से मिली, जहां उन्हें एक वीडियो में देखा गया। जैक मा की एक झलक से अलीबाबा के शेयरों में बेतहाशा तेजी देखने को मिली और अलीबाबा की मार्केट वैल्यू में 58 बिलियन डॉलर का इजाफा हो गया।

यह भी पढ़ेंः- ट्विटर ने बाइडेन दंपत्ति के अकाउंट्स के फॉलोअर्स किए जीरो, जानिए इसकी वजह

मा की झलक से अलीबाबा के शेयरों में तेजी
जैक मा के सामने आने के बाद अलीबाबा के शेयरों में बुधवार को जबरदस्त तेजी देखने को मिली। आंकड़ों के अनुसार अलीबाबा के शेयरों में 8.5 फीसदी की जबरदस्त तेजी तेजी देखने को मिली। जिसके बाद अलीबाबा का मार्केट कैप में 58 अरब डॉलर का इजाफा हो गया। वैसे आज अलीबबा के शेयरों में मुनाफावसूली देखने को मिल रही है। हांगकांग के शेयर बाजार में अलीबाबा के शेयरों में 2.42 फीसदी की गिरावट देखने को मिल रही है।

यह भी पढ़ेंः- बाइडेन के शपथ लेते ही सोना और चांदी हुआ महंगा, जानिए कितनी हुई कीमत

20 जनवरी को दिखाई दिए थे जैक
वीडियो रिपोर्ट के अनुसार वीडियो में मा को ग्रामीण शिक्षकों को उनकी एक चैरिटी फाउंडेशन की पहल के तहत संबोधित करते देखा गया। इस समारोह की मेजबानी ग्रामीण शिक्षकों की उपलब्धियों को मान्यता देने के लिए की जाती है। जैक मा फाउंडेशन के एक प्रवक्ता के अनुसार जैक मा ने 20 जनवरी को वार्षिक ग्रामीण शिक्षक पहल कार्यक्रम के ऑनलाइन समारोह में भाग लिया था।

यह भी पढ़ेंः- जेफ बेजोस को बड़ा झटका, सरकार की इस एजेंसी ने दिखाई अंबानी-बियानी की डील को हरी झंडी

सार्वजनिक रूप से गायब थे जैक
चीन के वित्तीय नियामक की आलोचना करने वाली कुछ टिप्पणियों के सामने आने के बाद वह सार्वजनिक रूप से नजर नहीं आ रहे थे, जिसके बाद उनके लापता होने के कयास लगाए जाने लगे थे। मा के आलोचनात्मक टिप्पणी के कुछ सप्ताह बाद ही एंट ग्रुप के वित्तीय सेवा को निरस्त कर दिया गया था। पूर्व अंग्रेजी शिक्षक मा अपनी उपलब्धि की वजह से चीनी ई-कॉमर्स के लिए अंतर्राष्ट्रीय चेहरा बन गए थे।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned