फेसबुक और गूगल के साथ नया दांव खेलने जा रहे हैं मुकेश अंबानी, वीजा और मास्टर कार्ड को देंगे टक्कर

मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज इंफीबीम एवेन्यू, फेसबुक और गूगल के साथ मिलकर पेमेंट सर्विस में आने की योजना बना रहा है। अगर रिलायंस का यह प्लान सफल हो जाता है तो वीजा और मास्टर कार्ड जैसी कंपनियों को कड़ी टक्कर मिलना तय है।फेसबुक और गूगल के साथ नया दांव खेलने जा रहे हैं मुकेश अंबानी, वीजा और मास्टर कार्ड को देंगे टक्कर

By: Saurabh Sharma

Updated: 05 Apr 2021, 04:03 PM IST

नई दिल्ली। मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज अब एक नए कारोबार में उतरने जा रही है। जिसमें उनके पार्टनर इंफीबीम एवेन्यू के अलावा गूगल और फेसबुक भी होगा। वास्तव में रिलायंस पेमेंट सर्विस में उतरने की योजना बना रही है। जिसके लिए कंपनी की ओर से 'न्यू अंब्रैला एंटिटी' का प्रस्ताव सामने रखा है। इस नई एंटिटी के जरिए रिलायंस ग्लोबल पेमेंट सर्विस कंपनी बनने का ख्वाब दे रही है। जानकारी के अनुसार आरआईएल रिलायंस न्यू अंब्रैला एंटिटी के माध्यम से विदेश में पेमेंट सर्विसेज शुरू करने पेशकश कर सकती है। कंपनी इसके लिए लाइसेंस लेने का प्रयास कर रही है। अगर कंपनी को ऑपरेटिंग लाइसेंस मिल जाता है तो वीजा और मास्टर कार्ड जैसी कंपनियों को कड़ी टक्कर मिल सकती है।

यह भी पढ़ेंः- देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई ने महंगा किया होम लोन, एक अप्रैल से लागू हुई नई दरें

क्या है पूरा प्लान
जानकारी के अनुसार आरआईएल ने एनयूई के साथ एक लांग टर्म प्लान बनाना भी शुरू कर दिया है। एनयूई की प्रमोटर सिर्फ रिलायंस ही नहीं बल्कि इंफीबीम एवेन्यू, फेसबुक और गूगल भी होगी। रिलायंस की एनयूई में 40 फीसदी और बाकी कंपनियों की 20-20 फीसदी भागेदारी हो सकती है। जानकारी के अनुसार चारों कंपनियों के कंसोर्शियम ने एनसूई के लाइसेंस के लिए पिछले हफ्ते ही अप्लाई किया है। लाइसेंस मिलने के बाद चारों कंपनियों द्वारा मिलकर बनाई गई एंटिटी भारत में डिजिटल पेमेंट्स की प्रोसेसिंग में ज्यादा स्वायत्तता हासिल करने में सक्षम होगी। न्यू अंब्रैला एंटिटी, डिजिटल ट्रांजेक्शंस के लिए एक नया प्लेटफॉर्म बन जाएगा।

यह भी पढ़ेंः- पेट्रोल पर 60 पैसे और गैस सिलेंडर 10 रुपए सस्ता कर पीठ थपथपा रही है सरकार

अभी तक 6 कंपनियां कर चुकी हैं अप्लाई
बीते कुछ सालों में भारत डिजिटल एडॉप्शन के मामले में दुनिया का दूसरे नंबर का देश रहा है। आरबीआई के अनुसार ज्यादा से ज्यादा एनयूई पेमेंट नेटवक्र्स तेज डिजिटल एडॉप्शन में मदद करेंगे। आंकड़ों की मानें तो बीते हफ्ते बुधवार को 6 कंसोर्शियम ने आरबीआई को नेशनल पेमेंट्स इंफ्रास्ट्रक्चर सेटअप करने के लिए आवेदन सौंपे हैं। आने वाले दिनों में इनकी संख्या में और इजाफा देखने को मिल सकता हैै।

Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned