Lockdown in UP : उत्तर प्रदेश में लॉकडाउन को लेकर सीएम योगी की बड़ी घोषणा, जानिए क्या हुआ निर्णय

Lockdown in UP : लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज, गोरखपुर और वाराणसी में 26 अप्रैल तक लॉकडाउन- इलाहाबाद हाईकोर्ट ने जारी किया आदेश

 

By: Hariom Dwivedi

Updated: 19 Apr 2021, 06:47 PM IST


पत्रिका न्यूज नेटवर्क
लखनऊ. CM Yogi Adityanath Decision over Lockdown in UP. महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, राजस्थान और दिल्ली के बाद यूपी में भी पूरी तरह से लॉकडाउन लगने की संभावनाओं के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने साफ इनकार किया है कि अभी यूपी में कंपलीट लॉकडाउन नहीं लगेगा। हां, बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए पाबंदियों को और कड़ा किया जा सकता है। सैनिटाइजेशन के लिए वीकेंड कफ्र्यू जारी रह सकता है। इसके साथ ही सरकार रविवार के साथ अब शनिवार को भी लॉकडाउन का आदेश जारी कर सकती है। इस दौरान 48 घंटे सभी के घर से बाहर निकलने पर पाबंदी रहेगी। आपातकालीन सेवाओं को छोड़कर सभी बाजार और दफ्तर बंद रहेंगे। मुख्यमंत्री मीटिंग में लॉकडाउन पर चर्चा कर ही रहे थे, उधर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने प्रयागराज, लखनऊ, वाराणसी, कानपुर नगर और गोरखपुर में आगामी 26 अप्रेल तक लॉकडाउन करने के आदेश दिये हैं वहीं, पूरे प्रदेश में 15 दिनों तक लॉकडाउन का करने पर विचार करने को कहा है। हाईकोर्ट के आदेश के बाद एसीएस सूचना नवनीत सहगल ने कहा कि प्रदेश में कोरोना के मामले बढ़े हैं। कोरोना के नियंत्रण के लिए और सख्ती आवश्यक है। सरकार ने कई कदम उठाए है, आगे भी सख्त कदम उठाए जा रहे हैं। जीवन बचाने के साथ गरीबों की आजीविका भी बचानी है। इसलिए शहरों में समपूर्ण लॉक डाउन अभी नहीं लगेगा, लोग स्वतः स्फूर्ति से भाव से कई जगह बंदी कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने मास्क न पहनने वालों से सख्ती से निपटने के निर्देश दिए, जो लोग मास्क न पहनने पर दूसरी बार पकड़े जाएं, उनकी फोटो सार्वजनिक करने और 10 हजार रुपए का जुर्माना वसूलने के भी निर्देश दिए हैं। कोरोना संक्रमण के रिकॉर्ड संख्या में बढ़ते मामले को देखते हुए संभावना थी कि दिल्ली की तरह उत्तर प्रदेश में भी लॉकडाउन लग सकता है, मगर सीएम योगी आदित्यनाथ ने साफ कर दिया है कि यूपी में पूर्ण लॉकडाउन नहीं लगेगा। उत्तर प्रदेश में वीकेंड लॉकडाउन के साथ ही 25 से अधिक शहरों में रात आठ बजे से नाइट कर्फ्यू पहले से ही लग रहा है। उसे 26 अप्रैल तक बढ़ा दिया गया है। सोमवार को टीम-11 के साथ समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने इसका संकेत दिया। उन्होने निर्देश है कि ऑक्सीजन की उपलब्धता बढ़ाने के साथ कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने वालों के साथ सख्ती करें।

यह भी पढ़ें : सही Msak की करें पहचान, जानें- कोरोना रोकने के लिए कौन सा मास्क है सबसे बेहतर

सीएम योगी आदित्यनाथ ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर टीम-11 के साथ समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों से कोरोना के हालातों की प्रदेश की पूरी रिपोर्ट ली। इसके बाद उन्होंने टेस्टिंग, ट्रैकिंग और टीकाकरण की रफ्तार बढ़ाने पर जोर दिया।

जीवनरक्षक दवाओं की कोई कमी नहीं
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि जीवनरक्षक दवाओं की कोई कमी नहीं है। रेमडेसिविर सहित किसी भी प्रकार के दवाई की कोई किल्लत नहीं है। रेमडेसिविर के 20,000 से 30,000 बॉयल आज यानी सोमवार को ही प्रदेश को प्राप्त हो जाएंगे। आने वाले तीन दिनों के भीतर रेमडेसिविर की नई खेप भी प्राप्त हो रही है। इनका वितरण पारदर्शितापूर्ण ढंग से किया है। सभी आपूर्तिकर्ताओं से संवाद स्थापित कर प्रदेश की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए मांग प्रेषित करें।

यह भी पढ़ें : लखनऊ सहित पूरे यूपी में दिखा लॉकडाउन का जबरदस्त असर, देखें वीडियो

समीक्षा बैठक में जारी दिशा-निर्देश
1-रेमेडेसिवर जैसी दवाओं की कालाबाज़ारी पर गैंगस्टर, एनएसए लगेगा
2-रेमेडेसिवर सहित अन्य दवाओं की कोई कमी नहीं
3 रेमेडेसिवर के 20000 से 30000 वायल मिले
4-ऑक्सीजन के उत्पादन की मंत्री करेंगे मॉनिटरिंग
5- अगले 2,3 दिनों में 220 सिलिंडर वाला ऑक्सीजन प्लांट स्थापित होगा।
6-बलरामपुर हॉस्पिटल में 225 बेड की जगह 700 बेड होंगी।
7-100 बेड वाले अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट लगेगा।
8-मास्क ने लगाने पर दूसरी बार पकड़े गए तो 10000 रुपए जुर्माना, फोटो भी सार्वजनिक होगी
9- लखनऊ, बनारस,प्रयागराज में कोविड मरीजों के लिए बेड्स दोगुना।

यह भी पढ़ें : 35 घंटे के कोरोना कर्फ्यू ने दिला दी लॉकडाउन की याद, सड़कों पर पसरा सन्नाटा

Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned