लखनऊ में कोविड अस्पताल के बिस्तर भी हुए 'भगवा'

- राजधानी में बढ़ाए गए 2000 आईसीयू बेड
- निजी अस्पतालों और मेडिकल कालेजों को ओवरटेक करने के निर्देश

By: Hariom Dwivedi

Updated: 13 Apr 2021, 12:48 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
लखनऊ. राजधानी लखनऊ में कोरोना संक्रमण (Covid Infection) अब बेकाबू होता दिख रहा है। स्थिति पर नियंत्रण के लिए सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने टीम-11 के साथ अहम बैठक की। और संक्रमण की रफ्तार थामने के लिए अफसरों को जरूरी दिशा निर्देश दिए। अब हर दिन डेढ़ लाख से ज्यादा टेस्ट करने को कहा गया है। इनमें से 70 फीसदी टेस्ट आरटी-पीसीआर के जरिए होंगे। लखनऊ में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 4000 को पार कर गया है। इस बीच राजधानी में 2000 आईसीयू बेड बढ़ाए जा रहे हैं। खास बात यह है कि इन बेड पर भगवा रंग की चादरें बिछायी जा रही हैं। इस पर सपा ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है रंग बदलने से कोरोना नहीं भागेगा। 25 शहरों में नाइट कफ्र्यू से भी व्यवस्था नहीं सुधर रही तो अब अस्पताल को रंगा जा रहा है।

लखनऊ के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश (Lucknow DM) का कहना है कि 2000 आईसीयू बेड बढ़ाए जा रहे हैं। बलरामपुर हास्पिटल में 300 बेड तैयार हैं। टीएस मिश्रा, इंटीग्रल और एरा मेडिकल कॉलेज को डेडिकेटेड कोविड अस्पताल बनाया जा रहा है। जरूरत पड़ी तो मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार अन्य निजी अस्पतालों और मेडिकल कालेजों और निजी लैब्स को ओवरटेक किया जाएगा।

यह भी पढ़ें : 24 घंटों में लखनऊ में कोरोना के रिकॉर्ड 4,444 नए केस, 31 की मौत

इलाहाबाद हाईकोर्ट में वर्चुअल सुनवाई
संक्रमण से बचने के लिए इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad Highcourt) में सोमवार से मुकदमों की सिर्फ वर्चुअल सुनवाई की व्यवस्था लागू की है। मुकदमों को सुनने के लिए 25 अदालतें बैठीं। पहले से दाखिल मुकदमे अदालतों में सुनवाई के लिए पेश हुए। अधिवक्ता, वादकारी और अधिवक्ता लिपिकों को परिसर में प्रवेश की अनुमति नहीं मिली। इस बीच राजधानी लखनऊ में सोमवार से ही सभी निजी और सरकारी दफ्तरों में 50 प्रतिशत कर्मचारियों की उपस्थिति के निर्देश दिए गए हैं।

यह भी पढ़ें : कोरोना संक्रमित शिक्षक की लखनऊ में मौत, 15 मार्च को लगी थी वैक्सीन की पहली डोज

coronavirus
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned