जानिए, राम मंदिर के लिए श्रीश्री की पहल पर क्या कहना है मोरारी बापू का

Amit Sharma

Publish: Nov, 15 2017 09:11:59 (IST)

Mathura, Uttar Pradesh, India
जानिए, राम मंदिर के लिए श्रीश्री की पहल पर क्या कहना है मोरारी बापू का

प्रख्यात प्रख्यात कथा वाचक संत मोरारी बापू ने श्रीश्री की राम मंदिर के लिए की जा रही पहल पर बड़ा बयान दिया है।

मथुरा। प्रख्यात कथा वाचक संत मोरारी बापू नौ दिवसीय आध्यात्मिक यात्रा पर वृन्दावन पहुंचे हैं। नौ दिन तक मोरारी बापू ब्रज के अलग अलग स्थानों पर जा कर राम कथा प्रवचन करेंगे। इस दौरान मीडिया के एक सवाल पर मोरारी बापू ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ करते हुए कहा कि तीन साल में कोई भी भ्रष्टाचार का मामला सामने नहीं आया है साथ ही नरेंद्र मोदी की राष्ट्र भक्ति पर कोई उंगली नहीं उठा सकता।

दिवसीय धार्मिक य़ात्रा पर मोरारी बापू

संत मोरारी बापू नौ दिवसीय धार्मिक य़ात्रा पर वृन्दावन पहुंचे हैं। बता दें कि इन नौ दिनों में मोरारी बापू चौरासी कोस की परिक्रमा करते हुए राम कथा का पाठ करेंगे। बृज यात्रा की शुरुआत करते हुए मोरारी बापू ने वृन्दावन में एक स्थान पर रूक कर अपने भक्तों को राम कथा का पाठ सुनाया।


नरेंद्र मोदी की राष्ट्रभक्ति पर कोई सवाल नहीं उठा सकता

वहीं मीडिया से मुखातिब होते हुए मोरारी बापू ने कहा कि नरेंद्र मोदी के बारे में पूछे गए एक सवाल के जवाब में उन्होंने केदार की कथा के दौरान कहा था कि नरेंद्र मोदी की राष्ट्रभक्ति पर कोई सवाल नहीं उठा सकता है। हालांकि उन्होंने कहा कि वह किसी भी राजनौतिक दल से कोई ताल्लुक नहीं रखते हैं। उन्होंने कहा कि वही सिर्फ सत्य, प्रेम, करुणा के पक्ष में हैं।


श्रीश्री की पहल स्वागत योग्य

श्रीश्री रवि शंकर द्वारा राम मंदिर निर्माण के लिए पहल किए जाने के सवाल पर मोरारी बापू ने कहा कि शुभ कार्य का स्वागत करना चाहिए। साथ ही उन्होंने कहा कि सर्व सम्मति से राम मंदिर निर्माण होना चाहिए नहीं तो कोर्ट के फैसले का इंतजार करें। हालांकि उन्होंने श्रीश्री रवि शंकर की पहल स्वागत योग्य बताई।


वृंदावन में पहले बदले हैं हालात

मोरारी बापू ने कहा कि ब्रज भूमि पर आ कर उन्हें आनन्द की अनुभूति हो रही है। साथ ही उन्होंने कहा कि वृंदावन में पहले से ज्यादा स्वच्छता नजर आ रही है। विकास भी नजर आ रहा है। हालांकि और विकास होना चाहिए।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned