दिवाली पर प्रतिबंध के बाद भी इस तरह ऑनलाइन बेचे जा रहे पटाखे

Highlights

- पुलिस के 'ऑपरेशन पटाखा' अभियान के तहत हुआ बड़ा खुलासा

- वॉटसऐप पर चल रहा ऑनलाइन पटाखों की बिक्री का धंधा

- ऑर्डर लेकर बंद डिब्बों में की जा रही डिलीवरी

By: lokesh verma

Published: 13 Nov 2020, 01:47 PM IST

मेरठ. एनजीटी ने बढ़ते वायु प्रदूषण को देखते हुए एनसीआर समेत उन शहरों में पटाखों की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया है, जहां एयर क्वालिटी बेहद खराब स्थिति में पहुंच चुकी है। लेकिन, लोगों ने इसका भी तोड़ निकालते हुए ऑनलाइन पटाखे बेचना शुरू कर दिया है। इसका खुलासा मेरठ पुलिस की छापेमारी के दौरान हुआ है। लिसाड़ी गेट थाना पुलिस ने पटाखों की बड़ी खेप के साथ एक आरोपी को गिरफ्तार किया है।

यह भी पढ़ें- शौक पूरे करने के लिए रिश्तेदारों ने किया 7 साल के मासूम का किडनैप, एनकाउंटर के बाद गिरफ्तार

दरअसल, जबसे एनजीटी ने पटाखों पर प्रतिबंध लगाया है, पुलिस विशेष सतर्कता बरत रही है। पटाखों की बिक्री रोकने के लिए पुलिस ने 'ऑपरेशन पटाखा' अभियान भी शुरू किया है, जिसके तहत पुलिस पटाखों का स्टॉक रखने वालों के यहां छापेमारी कर रहे हैं। छापेमारी के दौरान मेरठ पुलिस ने एक गोदाम से पटाखों की बड़ी खेप के साथ एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। बरामद किए गए पटाखों की कीमत लाखों में बताई जा रही है। इन पटाखों को प्रतिबंध के बावजूद भारी मुनाफे में ऑनलाइन बेचा जा रहा था।

पुलिस गिरफ्त में आए व्यक्ति ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि उन्होंने पटाखों की बिक्री के लिए वॉटसऐप ग्रुप बना रखे हैं। जिन लोगों को भी पटाखे लेने होते वह ऐसे लोगों से संपर्क कर वॉटसऐप पर डिमांड की लिस्ट मंगा लेते हैं और फिर बंद पैकेट में लोगों का कंसाइनमेंट उनके पते पर भिजवा दिया जाता है। वहीं, पैसे ऑनलाइन ट्रांसफर करा लेते हैं। फिलहाल पुलिस इस गैंग के अन्य सदस्यों को तलाश रही है।

यह भी पढ़ें- यूपी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड का अलर्ट, पंजाब की पराली प्रदूषित करेगी उत्तर प्रदेश और दिल्ली की हवा

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned