घर के बाहर खेल रहे बच्चे का अपहरण, खुद को पुलिस से घिरा देख हाईवे पर फेंक फरार हुए बदमाश

Highlights

- मेरठ के लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र की घटना

- पुलिस की घेराबंदी से घबराकर बाइपास पर बच्चे फेंककर फरार हुए बदमाश

- परिजनों ने थाना पुलिस को दी तहरीर, जांच में जुटी पुलिस

By: lokesh verma

Published: 01 Jan 2021, 11:52 AM IST

मेरठ. साल के आखिरी दिन पुलिस की मुस्तैदी के बावजूद भी बदमाशों ने दुस्साहसिक तरीके से एक बच्चे का अपहरण कर लिया। बच्चे के अपहरण से पुलिस महकमें में सनसनी फैल गई। बच्चे की अपहरण की सूचना पर कई थाने की पुलिस अलर्ट हुई। अपहरणकर्ता खुद को घिरा देख बच्चे को बाइपास पर ही छोड़कर फरार हो गए। इस घटना के बाद परिजन सदमे में हैं। परिजनों ने थाने में तहरीर देकर आरोपियों को पकड़ने की मांग की है। फिलहाल पुलिस जांच कर रही है।

यह भी पढ़ें- साल के आखिरी दिन दर्दनाक हादसा, मिट्टी में दबने से 3 बच्चों की मौत, 5 को बचाया गया

दरअसल, लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र के फतेहउल्लापुर निवासी नईम का 10 वर्षीय बेटा अमन घर के बाहर खेल रहा था। तभी बाइक सवार दो युवक आए और उसे अपने पास बुलाया। उसे बातों में लगाकर जबरन बाइक पर बैठा लिया। बच्चे ने शोर मचाना चाहा तो उसका मुंह दबा दिया। कुछ दूरी पर खड़ी पिकअप गाड़ी में बच्चे को बैठाकर बिजली बंबा बाइपास की ओर चल दिए। बदमाशों ने बच्चे को बेहोश कर दिया था, ताकि वह शोर न मचा सके।

करीब दो घंटे बाद बदमाशों ने बच्चे को बिजली बंबा बाइपास पर एचपी पेट्रोल पंप के सामने चलती गाड़ी से फेंक दिया। पंप के कर्मचारियों ने बच्चे को उठाया। उससे नाम-पता पूछकर कंट्रोल रूम को सूचना दी। थाना प्रभारी प्रशांत कपिल ने बताया कि घटनास्थल से लेकर बच्चे को फेंके जाने वाली जगह तक सीसीटीवी कैमरे खंगाले जा रहे हैं।

नईम ने बताया कि काफी देर तक जब बेटा घर नहीं पहुंचा तो तलाश शुरू हुई। मोहल्ले के बच्चों को भी उसकी कोई जानकारी नहीं थी। इसके बाद पुलिस को इसकी सूचना दी।

यह भी पढ़ें- 2020 जाते-जाते ले गया 6 लोगों की जिंदगी, किसी ने तनाव में तो किसी ने नशे में मौत को लगाया गले

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned