दिल्ली में 9 साल की बच्ची के लिए इंसाफ की जंग, पोस्टमार्टम से नहीं निकला निष्कर्ष

दिल्ली में 9 साल की बच्ची का कथित तौर पर रेप और उसके बाद हत्या मामले में मामले में पुलिस को पोस्टमॉर्टम से भी कुछ पता नहीं चल पाया है।

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में निर्भया कांड के बाद एक बार यहां दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। दिल्ली के कैंट इलाके में कथिततौर एक 9 साल की बच्ची के साथ रेपकर उसको जिंदा जला दिया गया। इस घटना को लेकर पूरे देश में आक्रोश है। लोग इंसाफ की मांग कर रहे है। वहीं राजनीति पार्टियों के कई नेता पीड़ित परिवार से मुलाकात कर अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का आश्वास दे रहे है। उधर, पुलिस का कहना है कि वो मामले की निष्पक्ष जांच सुनिश्चित करेगी। इस मामले में शमशान घाट के पंड़ित सहित चार आरोपियों को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया।


मौत करंट से हुई या नहीं पोस्टमॉर्टम से नहीं पता चला
पुलिस को रेप और उसके बाद हत्या मामले में आरोपियों के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिले है। डीसीपी दक्षिण-पश्चिम इंगितत प्रताप सिंह ने बताया कि मंगलवार को बच्ची के शरीर के बचे हुए हिस्सों का पोस्टमॉर्टम किया गया। अनौपचारिक रूप से, डॉक्टरों के बोर्ड का कहना है कि मौत के कारणों के बारे में किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंच सकते हैं। डीसीपी ने कहा कि जल्द ही अंतिम संस्कार के लिए परिवार को शव सौंप दिया जाएगा।

FSL टीम ने किया कूलर का परीक्षण
डीसीपी ने कहा कि इस मामले की गंभीरता से जांच की जा रही है। पुलिस ने मुख्य आरोपी के घर से साक्ष्य और आरोपी के शरीर से सभी जैविक साक्ष्य एकत्र कर लिए है। उन्होंने आगे कहा है कि एफएसएल टीम ने वाटर कूलर का भी परीक्षण किया। जल्द ही इसकी रिपोर्ट आ जाएगी और आगे की जांच शुरू करेंगे। हम आरोपियों की रिमांड आगे बढ़ने की मांग करेंगे।

यह भी पढ़ेंः China: वुहान में एक साल बाद फिर मिले कोरोना के नए केस, अब पूरी आबादी का होगा टेस्ट

हाथ पर चोट, होंठ और जीभ नीले पड़ गए
पीड़ित परिवार राजस्थान के भरतपुर का रहने वाला है। वह रोजगार के लिए था। परिवार का कहना है कि पहले भी कई बार उनकी बेटी श्मशान घाट में पानी भरने के लिए जाया करती थी। इसलिए हमें नहीं लगा कि कुछ गलत हो सकता है। लड़की के माता—पिता का कहना है कि उनके एक ही संतान थी, आखिरी बार उसका भी चेहरा नहीं देखने दिया गया। बच्ची की मां का कहना है कि उसने निकर और टी-शर्ट पहना हुआ था। हाथ में चोट लगी थी, होंठ और जीभ नीले पड़ गए थे। बच्ची की मां ने कहा कि आरोपियों को भी मेरी बेटी की तरह ही जला दिया जाना चाहिए। मैं उनके लिए फांसी की सजा चाहती हूं।

यह भी पढ़ेंः रक्षा मंत्री के घर के बाहर हुए काम बस से धमाका, हर तरफ मचा हड़कंप

 

महिला आयोग का दिल्ली पुलिस को समन
कांग्रेस सांसद राहुल गांधी के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आज पीड़ित परिवार से मुलाकात करेंगे। दिल्‍ली महिला आयोग (DCW) की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने दिल्ली पुलिस को समन जारी किया है। महिला आयोग के हेल्पलाइन नंबर 181 पर कॉल करके शिकायत की गई थी। बच्ची के माता-पिता से मिलने भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर आजाद भी पहुंचे। स्थानीय लोग पुलिस जांच के तौर-तरीके और उसके रवैए से काफी गुस्सा हैं।

Shaitan Prajapat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned