लॉकडाउन में HRD मंत्रालय का बड़ा कदम, कक्षा 6 से 8 के लिए वैकल्पिक अकादमिक कैलेंडर किया जारी

- मानव संसाधन विकास मंत्री ने कहा, खेल खेल में घर बैठे बच्चें करेंगे पढ़ाई
- एनसीईआरटी ने कक्षा 6 से 8 तक के लिए जारी किया कैलेंडर

धीरज कुमार

नई दिल्ली। मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ( HRD Minister Ramesh Pokhriyal Nishank ) ने गुरुवार को उच्च प्राथमिक स्तर ( Upper primary level ) यानी कक्षा 6 से 8 तक के लिए वैकल्पिक अकादमिक कैलेंडर ( Alternative academic calendar )जारी किया। इस कैलेंडर में शिक्षकों केलिए तकनीक और सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफॉर्म के इस्तेमाल के लिए दिशानिर्देश भी दिए गए हैं ताकि वो बच्चों को बेहतर तरीके से ऑनलाइन शिक्षा ( online education ) दे सकें। इससे पहले 16 अप्रैल को कक्षा एक से 5 के लिए कैलेंडर जारी किया गया था।

लॉकडाउन में गरीबों का अन्नदाता बना ‘मुंबई रोटी बैंक’, रोजाना 35,000 लोगों को खिला रहा खाना

मंत्रालय के निर्देश पर राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) ने वैकल्पिक अकादमिक कैलेंडर बनाया है। इस मौके पर मानव संसाधन विकास मंत्री ने कहा कि इसके जरिए लॉकडाउन की स्थिति में बच्चे घर में अभिभावकों और शिक्षकों की सहायता से खेल खेल में पढ़ाई कर सकेंगे। इस कैलेंडर में शिक्षा को अधिक दिलचस्प और अर्थपूर्ण बनाने के लिए विभिन्न तकनीक और सोशल मीडिया उपकरण मौजूद हैं जिनका उपयोग करके बच्चे घर पर अपनी पढ़ाई जारी रख सकेंगे।

Coronavirus: दिल्ली के LNJP हॉस्पिटल में डॉक्टरों से हाथापाई, बोले- ऐसे हालात में काम करना मुश्किल

मानव संसाधन विकास मंत्री ने कहाए जिन बच्चों के पास इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध नहीं है जिसकी वजह से वो सोशल मीडिया जैसे कि व्हाट्सएप, फेसबुक, ट्विटर, टेलीग्राम, गूगल मेल और गूगल हैंगऑउट का उपयोग नहीं कर सकते तो उनको शिक्षक मोबाइल पर एसएमएस भेज कर या फोन कर के शिक्षा प्रदान कराने के दिशा-निर्देश भी इस कैलेंडर में दिए गए हैं। इंटरनेट सुविधा होने की स्थिति में बच्चे विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर एक बार में एक से ज्यादा विद्यार्थी और अभिभावक को जोड़ा जा सकता है।

दिल्ली: मौसम विभाग के कर्मचारी की कोरोना वायरस से मौत, 10 लोगों को किया गया क्वारंटाइन

मंत्रालय जल्द ही बाकी कक्षाओं ( 9 से 12) और सभी विषयों को इस कैलेंडर में शामिल करेगा। इससे दिव्यांग बच्चे भी जुड़ सकते हैं। दिव्यांग छात्रों के लिए इस कैलेंडर में ऑडियो बुक्स, रेडियो कार्यक्रमों आदि द्वारा शिक्षा प्रदान किये जाने की सुविधा है। इस कैलेंडर में अनुभव आधारित शिक्षा के लिए कला और शारीरिक शिक्षा के साथ साथ योग भी शामिल किया गया है। तनाव और चिंता को दूर करने के तरीके भी इस कैलेंडर में सुझाये गए हैं। फिलहाल ये कैलेंडर में चार भाषाओं संस्कृत, उर्दू, हिंदी और अंग्रेजी के विषयों को शामिल किया गया है ।

अपर्नी मर्जी से करें इस्तेमाल नहीं थोपा गया आदेश

केंद्रीय मंत्री ने इस कैलेंडर पर उपलब्ध गतिविधियों के बारे में कहा कि सभी गतिविधियां सुझाव के तौर पर शामिल की गयी है न कि किसी आदेश की तरह थोपी गई हैं, इस क्रम में किसी के ऊपर कोई बाध्यता नहीं है। अध्यापक और अभिभावक बिना क्रम पर ध्यान दिए विद्यार्थियों की रूचि वाली गतिविधि का चयन कर सकते हैं। एनसीईआरटी ने टीवी चैनल स्वयं प्रभा (किशोर मंच) (फ्री डीटीएच चैनल 128, डिश टीवी चैनल 950, सनडायरेक्ट 793, जिओ टीवी, टाटा स्काई 756, एयरटेल चैनल 440, वीडियोकॉन चैनल 477), किशोर मंच ऐप (प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है) और यूट्यूब लाइव (एनसीईआरटी आधिकारिक चैनल) के माध्यम से छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों के साथ लाइव इंटरेक्टिव सत्र शुरू कर दिया है।

जम्मू-कश्मीर में 4G सेवाओं की बहाली की याचिका पर SC में सुनवाई, केंद्र से 27 अप्रैल तक मांगा जवाब

प्राथमिक कक्षाओं के लिए इन सत्रों का प्रसारण सोमवार से शनिवार प्रात: 11 बजे से दोपहर 1 बजे तक होगा। वहीं उच्च प्राथमिक कक्षाओं के लिए दोपहर 2 बजे से 4 बजे तक होगा। इन सत्रों के दौरान दर्शकों से बातचीत के अलावा, विषयगत शिक्षण करवाया जायेगा और साथ में उससे संबंधित गतिविधियां भी दिखाई जाएंगी।

coronavirus Coronavirus in China How do you treat coronavirus?
Show More
Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned