scriptCorona के कहर के बीच महाराष्ट्र में इस दिन के बाद लगेगा संपूर्ण लॉकडाउन! जानिए किस बात का इंतजार | Complete Lockdown in Maharashtra decision after april 14 due to Increase Covid new cases | Patrika News

Corona के कहर के बीच महाराष्ट्र में इस दिन के बाद लगेगा संपूर्ण लॉकडाउन! जानिए किस बात का इंतजार

Published: Apr 12, 2021 08:49:28 am

महाराष्ट्र में बढ़ा Coronavirus का कहर, 14 अप्रैल के बाद संपूर्ण लॉकडाउन लगना तय

Uddhav Thackeray

उद्धव ठाकरे, मुख्यमंत्री महाराष्ट्र

नई दिल्ली। देशभर में कोरोना वायरस ( Coronavirus In India ) लगातार अपने पैर पसार रहा है। खास तौर पर महाराष्ट्र ( Maharashtra ) में हालात लगातार चिंताजनक बने हुए हैं। यहां कोरोना के बीते 24 घंटे में 63 हजार नए केस दर्ज किए गए हैं। देश में सबसे ज्यादा कोविड-19 के मामले महाराष्ट्र में ही देखने को मिल रहे हैं। यही वजह है कि केंद्र और प्रदेश सरकार लगातार कड़े कदम उठा रही है।
वीकेंड लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू के बाद अब महाराष्ट्र संपूर्ण लॉकडाउन की ओर बढ़ रहा है। माना जा रहा है कि 14 अप्रैल के बाद महाराष्ट्र में 14 दिन का लॉकडाउन लगाया जा सकता है। इसको लेकर लगातार मंथन जारी है। स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे के मुताबिक संपूर्ण लॉकडाउन लगभग तय है बस तैयारियों की चलते इसके ऐलान में देरी हो रही है।
यह भी पढ़ेँः Corona का सबसे बड़ा विस्फोट, 24 घंटे में 1.70 लाख नए केस के साथ मौत के आंकड़ों ने भी तोड़ा

महाराष्ट्र में रविवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और टास्क फोर्स के बीच एक बैठक हुई। इस मीटिंग में एक बात तय हो गई कि महाराष्ट्र में लॉकडाउन की स्थिति पूरी तरह से बन चुकी है, लेकिन लॉकडाउन के लिए कैसे जाएं, इसकी तैयारी के लिए और चर्चा की जा रही है।
सोमवार सुबह 11 बजे से एक बार फिर बैठक का दौर शुरू होगा। मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री समेत कुछ अधिकारियों के जरिए इस बात का फैसला लिया जाएगा कि लॉकडाउन से पहले कौन-कौन सी तैयारियां जरूरी हैं। माना जा रहा है कि 14 अप्रैल या उसके बाद से महाराष्ट्र में दो हफ्तों का लॉकडाउन लगाया जा सकता है।
राजेश टोपे के मुताबिक रविवार को हुई बैठक सिर्फ टास्क फोर्स के विशेषज्ञों की थी। इसमें लॉकडाउन पर सहमति जताई गई। ज्यादातर सदस्यों की यही राय थी कि लॉकडाउन ही एकमात्र विकल्प है। साथ ही एक बड़ा मुद्दा ऑक्सीजन की कमी को दूर करने के उपायों का था।
राजेश टोपे ने बताया कि हमने रेमडेसिविर की दवा का निर्यात बंद करने के लिए केंद्र सरकार से अनुरोध किया था। इसके बाद उन्होंने निर्यात बंद कर दिया है। उन्होंने बताया कि रेमडेसिविर दवा का आने वाले 10 से 15 दिनों में ज्यादा इस्तेमाल होना है, ऐसे में इसकी ज्यादा आवश्यकता पड़ेगी।
आपको बता दें कि रेमडेसिविर दवा का इस्तेमाल कोरोना के इलाज के दौरान किया जाता है। कई शहरों में इसकी बड़ी किल्लत देखने को मिल रही है।

राजेश टोपे ने बताया कि बुधवार को कैबिनेट की बैठक होगी और उसके बाद क्या निर्णय होगा यह सीएम, लोगों के सामने रखेंगे।
उन्होंने कहा कि हर जिले में लिक्विड ऑक्सीजन प्लांट की सुविधा बढ़ाने को लेकर सोमवार को बैठक होगी, जिसमें सीएम मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और डिप्टी सीएम अजीत पवार शामिल होंगे।

यह भी पढ़ेँः Corona संकट के बीच इस शहर में सख्त हुए नियम, अब होम क्वारंटीन के लिए भरना होगा 25 हजार का बॉन्ड
महाराष्ट्र में डराने वाले आंकड़े
पिछले 24 घंटे में महाराष्ट्र में संक्रमण के 63,294 नए मामले सामने आए हैं. यह पहला मौका है, जब राज्य में एक दिन में इतनी बड़ी संख्या में कोरोना के नए केस मिले हैं। वहीं राहत की खबर ये भी है कि 34 हजार 8 मरीजों को डिस्चार्ज कर घर भेजा गया। राज्य में रिकवरी रेट 81.65% पहुंच गया है।
loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो