नए सेना प्रमुख की नियुक्ति प्रक्रिया शुरू, जनरल रावत 31 दिसंबर को हो रहे रिटायर

  • जनरल रावत ने 31 दिसबंर 2016 को संभाला था पदभार
  • रावत के कार्यकाल में भारत-पाकिस्तान के बीच तनाव बरकरार
  • प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व वाली कैबिनेट की नियुक्ति कमेटी लेगी आखिरी फैसला

नई दिल्ली। इंडियन आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत 31 दिसंबर को अपने पद से रिटायर हो जाएंगे। इधर नए सेनाध्यक्ष की नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। अधिकारियों ने बुधवार को इसकी जानकारी दी। नए सेनाध्यक्ष की दौड़ में लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह, लेफ्टिनेंट जनरल एमएम नरावने और लेफ्टिनेंट जनरल एसके सैनी का नाम सबसे आगे चल रहा है।

PM मोदी के नेतृत्व वाली कैबिनेट की नियुक्ति कमेटी करेगी फैसला

नए सेनाध्यक्ष के चयन की घोषणा वर्तमान सेनाध्यक्ष के रिटायर होने के एक महीने पहले हो जाती है। नए सेनाध्यक्ष की नियुक्ति पर आखिरी मुहर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली कैबिनेट की नियुक्ति कमेटी ही लेगी। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह अकेले मंत्री हैं जो नियुक्ति कमेटी में शामिल हैं।

ये भी पढ़ें: मुंबई : पांच मंजिला इमारत का हिस्सा गिरा, मलबे में कई लोगों के दबे होने की आशंका

File photo

भारत-पाकिस्तान के बीच तनाव बरकरार

गौरतलब है कि बिपिन रावत ने 31 दिसंबर 2016 को सेना अध्यक्ष का पदभार ग्रहण किया था। बिपिन रावत का जन्म उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल जिले में हुआ था। सेनाध्यक्ष बिपिन रावत के कार्यकाल में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर तनाव बरकार है। भारत-पाकिस्तान के बीच रिश्ते तनावपूर्ण है। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है और सीमा पार से लगातार फायरिंग कर रहा है।

 

file photo

सेना प्रमुख ने दिया था बयान

गौरतलब है कि 23 जुलाई को सेनाध्यक्ष बिपिन रावत ने कहा था कि पाकिस्तान ने बालाकोट में अपने आतंकी कैंपों को फिर से सक्रिय कर दिया है। लेकिन भारतीय सेना पूरी तरह से तैयार है। सेना प्रमुख ने बताया कि पाकिस्तान लगातार सीजफायर का उल्लंघन करता रहा है। भारतीय सेना मुहंतोड़ जवाब देती है।

Show More
Prashant Jha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned