बड़ी खुशखबरी! अब किसानों को हर महीने मिलेंगे 3000 रु, ऐसे कराएं फ्री में रजिस्ट्रेशन

-केंद्र सरकार द्वारा चलाई गई योजना पीएम मानधन योजना के अंर्तगत किसानों को हर महीने 3000 रुपए पेंशन के रूप में मिलने का प्रावधान है।
-18 से 40 साल तक के किसानों को इस योजना के तहत पेंशन लेने के लिए कम से कम 20 साल तक 55 रुपए से लेकर 200 रुपए मंथली जमा करना होगा।
-अबतक इस स्कीम से 21 लाख से ज्यादा किसान जुड़ चुके हैं। आप भी उठा सकते हैं इस योजना का लाभ।

 

नई दिल्ली। पीएम मोदी सरकार (PM Narendra Modi Govt.) किसानों के हित में कई योजनाएं चला रही है, जिसका सीधा फायदा देश के करोड़ों किसानों को मिल रहा है। इन्हीं में से एक है पीएम किसान मानधन योजना (PM Kisan Maan Dhan Scheme)। इस योजना से सरकारी नौकरी करने वाले लोगों की तरह किसानों को भी पेंशन मिलती है। पीएम किसान मानधन योजना के तहत 60 साल की उम्र के बाद पेंशन का प्रावधान है।

भरोसे का टीका लगवाया, देश के वैज्ञानिकों को सलाम'

60 साल की उम्र के बाद मिलती है पेंशन
पीएम किसान मानधन योजना ( pm kisan maan dhan scheme ) में किसानों को हर महीने पेंशन मिलती है। लेकिन 60 साल के बाद। इस योजना में 18 से 40 साल तक की उम्र का कोई भी किसान भाग ले सकता है। इस पेंशन कोष को प्रबंधन भारतीय जीवन बीमा निगम(LIC) कर रहा है।

संजय राउत बोले - अब औरंगाबाद का नाम संभाजीनगर ही रहेगा, दबाव में निर्णय बदलने का सवाल नहीं

हर महीने मिलती है 3000 रुपए पेंशन
इस योजना में उम्र के हिसाब से मंथली अंशदान करने पर 60 की उम्र के बाद 3000 रुपए मंथली या 36000 रुपए सालाना पेंशन मिलती है। इसके लिए अंशदान 55 रुपए से 200 रुपए तक मंथली है। अबतक इस स्कीम से 21 लाख से ज्यादा किसान जुड़ चुके हैं। जानते हैं कि इस योजना का लाभ कैसे उठा सकते हैं।

PM Modi ने केवडिया के लिए 8 ट्रेनों को दिखाई हरी झंडी, स्टैच्यू ऑफ यूनिटी जाना हुआ आसान

कौन उठा सकता है इस योजना का लाभ
किसान पेंशन योजना का लाभ 18 से 40 वर्ष तक के किसान ले सकते हैं, जिसने पास खेती के लिए अधिकतम 2 हेक्टेयर तक जमीन है। इन्हें योजना के तहत न्यूनतम 20 साल और अधिकतम 40 साल तक करीब 55 रुपए से 200 रुपए तक मासिक अंशदान करना होगा। इस योजना के अंतर्गत जितना योगदान किसान का होगा, उसी के बराबर योगदान सरकार भी करेगी। यानी अगर पीएम किसान अकाउंट में आपका योगदान 55 रुपएव है तो सरकार भी आपके खाते में 55 रुपए का योगदान करेगी।

Covid-19 : 24 घंटे में समाने आए कोरोना के 15,144 नए केस, 181 लोगों की मौत

इतने रुपए से शुरू कर सकते हैं यह स्कीम
अंशदान किसानों की उम्र पर निर्भर करता है। उदाहरण के लिए अगर 18 साल की उम्र में जुड़ते हैं तो मासिक अंशदान 55 रुपए या सालाना अंशदान 660 रुपए करना होगा। वहीं अगर 40 की उम्र में जुड़ते हैं तो 200 रुपए महीना या 2400 रुपए सालाना अंशदान करना होगा।

ऐसे कराएं रजिस्ट्रेशन
अगर आपको भी स्क्रीम में रजिस्ट्रेशन करवाना है तो नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। इसके लिए किसान को आधार कार्ड और खसरा खतियान की नकल ले जानी होगी। इसके साथ ही किसान की 2 पासपोर्ट साइज फोटो और बैंक की पासबुक की भी आवश्यकता होगी। रजिस्ट्रेशन के दौरान किसान को पेंशन यूनिक नंबर और पेंशन कार्ड बना दिया जाएगा। इसके लिए अलग से कोई फीस नहीं लगती।

नहीं डूबेगा आपका पैसा
अगर कोई किसान बीच में स्कीम छोड़ना चाहता है तो उसका पैसा नहीं डूबेगा। उसके स्कीम छोड़ने तक जो पैसे जमा किए होंगे उस पर बैंकों के सेविंग अकाउंट के बराबर का ब्याज मिलेगा। अगर पॉलिसी होल्डर किसान की मौत हो गई, तो उसकी पत्नी को 50 फीसदी रकम मिलती रहेगी।

भूप सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned