सरकार के निर्देश: भगवान के दर्शन होंगे, लेकिन प्रतिमा छूने और प्रसाद चढ़ाने की मनाही

  • राज्यभर में बुधवार से मंदिरों में करीब 99 दिन बाद भक्तों को भगवान के दर्शन होंगे
  • Temple, Mosque, Dargah, Church और अन्य प्रार्थना स्थलों को लेकर सरकार ने शर्तें व Guidelines
    जारी किए

नई दिल्ली। राज्यभर में बुधवार से मंदिरों ( Temple ) में करीब 99 दिन बाद भक्तों को भगवान के दर्शन होंगे। मंदिर, मस्जिद, दरगाह, चर्च ( Temple, Mosque, Dargah, Church ) और अन्य प्रार्थना स्थलों को लेकर सरकार ने मंगलवार को शर्तें व दिशा-निर्देश ( guidelines ) जारी किए। राज्य में लॉक डाउन ( Lockdown ) शुरू होने के साथ प्रार्थना स्थलों को बंद कर दिया गया था। सरकार ने अब इसमें छूट देने का निर्णय किया है। कोविड-19 ( COVID-19 ) के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग ( Social Distancing ) तथा अन्य उपाय करने पर जोर देते हुए यह अनुमति दी गई है।

पीएम मोदी से राहुल गांधी का शायराना सवाल - ‘तू इधर उधर की न बात कर, ये बता कि काफिला कैसे लुटा’

इन पर प्रतिबंध
कार्पोरेशन, नगर परिषद, पालिकाओं व टाउन पंचायत इलाकों के अलावा बड़े व लोकप्रिय प्रार्थना व पूजा स्थल बंद रहेंगे। फिर चाहे वे ग्राम पंचायत क्षेत्र में भी क्यों नहीं आते हों। 65 वर्ष से अधिक तथा 10 वर्ष से कम आयु के बच्चों को घर पर रहने की ही सलाह दी गई है।

Amit Shah की अध्यक्षता में हुई GoM की बैठक, High level meeting में Delhi के हालातों पर चर्चा

काशी विश्वनाथ का प्रसाद अब घर बैठे मिलेगा

काशी विश्वनाथ का प्रसाद अब भक्तों को घर बैठे मिलेगा। यह व्यवस्था ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से उपलब्ध होगी। श्री काशी विश्वनाथ मंदिर ट्रस्ट ने डाक विभाग के सहयोग से मंगलवार को यह व्यवस्था शुरू कर दी। प्रसाद मंगाने के लिए किसी भी डाकघर से 251 रुपये का इलेक्ट्रानिक मनी आर्डर (ईएमओ) करना होगा। काशी में रहने वाले भक्त नीची बाग स्थित डाकघर में 201 रुपये देकर प्रसाद काउंटर से भी ले सकते हैं।

Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned