इंडियन रेलवे बनाएगा ग्रीन कॉरिडोर, चलाई जाएंगी "ऑक्सीजन एक्सप्रेस" ट्रेन

कोरोना पेशेंट्स के लिए पूरे देश में मेडिकल ऑक्सीजन की सुचारू रूप से आपूर्ति बनाए रखने के लिए भारतीय रेलवे ग्रीन कॉरिडोर बना रहा है जिनके जरिए ऑक्सीजन टैंकर्स तथा सिलेंडर्स को एक जगह से दूसरी जगह त्वरित गति से ले जाया जा सकेगा।

नई दिल्ली। केन्द्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि देशभर में राज्यों को ऑक्सीजन की निर्बाध आपूर्ति बनाए रखने के लिए ग्रीन कॉरिडोर बनाया जाएगा। इन ग्रीन कॉरिडोर पर स्पेशल ट्रेन चलाई जाएंगी। इन ट्रेन्स को "ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन" नाम दिया गया है, ये सभी राज्यों को मेडिकल ऑक्सीजन की सुचारु रूप से सप्लाई करेंगी। उल्लेखनीय है कि इस संबंध में मध्यप्रदेश तथा महाराष्ट्र राज्य की सरकारों ने भारतीय रेलवे से लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन (LMO) तथा ऑक्सीजन सिलेंडर्स की सप्लाई करने के लिए कॉरिडोर बनाने के प्रयास करने की अपील की थी। इसके बाद रेलवे ने अपनी तैयारियों को मूर्त रूप देना शुरू कर दिया।

यह भी पढ़ें : रेलवे ने 4000 कोचेज को कोविड केयर कोच में बदला, केजरीवाल सरकार ने भी की थी अपील

रेलवे ने एक आधिकारिक सूचना जारी कर कहा कि ‘लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन की ढुलाई से संबंधित मुद्दों’ के विषय पर 17 अप्रैल 2021 को रेलवे बोर्ड के अधिकारियों और राज्य परिवहन आयुक्तों की उद्योग जगत के प्रतिनिधियों के साथ एक बैठक हुई थी। उसमें यह फैसला लिया गया था कि टैंकर की व्यवस्था परिवहन आयुक्त, महाराष्ट्र द्वारा की जाएगी। ये खाली टैंकर कलंबोली/ बोइसर, मुंबई और आसपास के रेलवे स्टेशनों से भेजे जाएंगे तथा तरल मेडिकल ऑक्सीजन के लदान के लिए उन्हें विजाग और जमशेदपुर/ राउरकेला/ बोकारो भेजा जाएगा।

यह भी पढ़ें : 12 दिनों में भारत का दैनिक कोरोना पॉजिटिविटी रेट दोगुना, रोज आ रहे रिकॉर्डतोड़ नए केस

प्रस्तावित व्यवस्था को परखने के लिए 18 अप्रैल 2021 को बोईसर (पश्चिम रेलवे) में एक परीक्षण किया गया, जहां एक पूरी तरह से भरे हुए टैंकर को फ्लैट डीबीकेएम पर रख कर सभी मेजरमेंट्स लिए गए। इसके बाद 19 अप्रैल 2021 को दस खाली टैंकर भेजने के लिए एक ट्रांसपोर्ट प्लानिंग तैयार की गई। महाराष्ट्र के परिवहन सचिव ने रेलवे को टैंकर उपलब्ध करवाने का आश्वासन दिया है। इस संबंध में अन्य राज्यों की सरकारों की मांगों के संबंध में संबंधित रेलवे मंडलों को भी सूचना दे दी गई है। सीएफटीएम और पीसीओएम उद्योग और राज्य सरकारों के साथ संपर्क में है। रेलवे बोर्ड ने संबंधित जीएम को पूरी तरह तैयार रहने और रेल द्वारा ऑक्सीजन की आपूर्ति में राज्य व केन्द्र सरकार की एजेंसियों को सक्रिय रूप से सहयोग करने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही रेलवे बोर्ड में ईडी/टीटी/एफ को नोडल अधिकारी के रूप में नामित कर दिया गया है।

रेलवे ने 4000 कोचेज को कोविड केयर कोच में बदला
कोरोना पेशेंट्स के लिए कम पड़ रहे बेड्स की संख्या पूरी करने के लिए रेलवे ने अपने 4000 कोचेज को कोविड केयर कोच में बदलने का भी निर्णय लिया है। इन कोचेज में यात्री सीटों को ही बेड के रूप में कन्वर्ट कर उनमें मेडिकल ऑक्सीजन सहित अन्य आवश्यक चिकित्सा सुविधाओं की व्यवस्था की गई है। पूरे भारतवर्ष में 16 जोन्स में इन कोचेज को प्रयोग किया जाएगा। यहां पर कोविड पेशेंट्स को रख कर उन्हें इलाज व अन्य सुविधाएं मुहैया करवाई जाएंगी।

Corona virus
सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned