TMC नेता महुआ मोइत्रा ने देश को बताया 'सुसु पॉटी रिपब्लिक', लोगों ने जमकर की खिंचाई

तृणमूल कांग्रेस की नेता महुआ मोइत्रा ने भारत को ‘सुसु पॉटी रिपब्लिक’ कह कर हड़कंप मचा दिया। एक ट्वीट में,मोइत्रा ने कहा, हमारे सुसु पॉटी रिपब्लिक में आपका स्वागत है! गौमूत्र पियो, गोबर छिड़को और शौचालय में कानून के शासन को फ्लश करो। इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने जमकर खिंचाई की।

नई दिल्ली। तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की नेता महुआ मोइत्रा इन दिनों अपने विवादित बयान के कारण सुर्खियों में छाई हुई है। हाल ही में महुआ मोइत्रा ने अपने देश को लेकर 'सुसु पॉटी रिपब्लिक' कह कर हड़कंप मचा दिया था। उन्होंने यह ट्वीट तब किया था जब दिल्ली पुलिस की स्पेशल टीम ने टूलकिट मामले में ट्विटर इंडिया के गुरुग्राम कार्यालय में नोटिस किया था। तृणमूल कांग्रेस की नेता के इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने जमकर खिंचाई की। इसके साथ ही यूजर्स ने उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग भी की है।

यह भी पढ़ें :— व्हाट्सएप ने भारत सरकार के खिलाफ किया मुकदमा, कहा- नए IT नियमों से खत्म होगी प्राइवेसी

सोशल मीडिया पर जमकर हुई खिंचाई:—
महुआ मोइत्रा के इस ट्वीट पर लोगों की तरह-तरह की प्रतिक्रियाए सामने आ रही है। एक यूजर ने कहा कि जब बंगाल में हिंसा हो रही थी तो मैडम सो रही थी। एक ने कमेंट में लिखा कि संसद में कैसे कैसे नमूने पहुँचे हैं। एक अन्य ट्विटर यूजर ने प्रतिक्रिया देते हुए लिखा कि इलाज करा लो मोहतरमा, सुना है ये मुंह से डिसेंटरी वाला डायरिया बहुत लाइलाज होता है। वहीं एक यूजर ने लिखा कि रेड ट्विटर के ऑफिस पर पड़ी है, लेकिन तकलीफ तृणमूल को हो रही है। ये रिश्ता क्या कहलाता है। इस प्रकार से कई यूजर्स महुआ मोइत्रा के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग कर रहे है।

यह भी पढ़ें :— शुभ संकेत धीमी पड़ी कोरोना की रफ्तार: देश के 200 जिलों में कम हुए रोजाना केस, पॉजिटिविटी रेट में भी घटी

 

जानिए ट्विटर में क्या लिखा था:—
आपको बता दें कि सोमवार (मई 24, 2021) रात ट्विटर इंडिया के गुरुग्राम कार्यालय में दिल्ली पुलिस नोटिस देने गई थी। इसकी निंदा करते हुए तृणमूल कांग्रेस की नेता महुआ मोइत्रा ने एक ट्वीट में लिखा, 'हमारे सुसु पॉटी रिपब्लिक में आपका स्वागत है! गौमूत्र पियो, गोबर छिड़को और शौचालय में कानून के शासन को फ्लश करो। दिल्ली पुलिस ने ट्विटर को नोटिस जारी किया और भाजपा के फर्जी दस्तावेज को मैनीपुलेटेड मीडिया बताने के सही तरीके के लिए उनके कार्यालयों में छापेमारी की।' हालांकि दिल्ली पुलिस ने छापेमारी की खबरों को खारिज करते हुए कहा था कि वह सिर्फ नोटिस देने गई थी।

BJP
Shaitan Prajapat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned