उत्तर भारत में भीषण गर्मी से राहत के आसार, 'वायु' तूफान से मानसून में होगी देरी

उत्तर भारत में भीषण गर्मी से राहत के आसार, 'वायु' तूफान से मानसून में होगी देरी

  • दिल्लीवासियों को भीषण गर्मी से अगले एक हफ्ते तक राहत रहेगी
  • पश्चिमी विक्षोभ से उत्तर भारत में आंधी और हल्की बारिश का दौर जारी रहेगा
  • तापमान में आई गिरावट की वजह से लोगों को गर्मी से राहत मिल सकती है

नई दिल्ली। भीषण गर्मी से झुलस रही राजधानी दिल्ली समेत उत्तर भारतीयों को अगले एक हफ्ते तक राहत रहेगी। मौसम विभाग के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ के एक्टिव होने से दिल्ली में आंधी और हल्की फुल्की बारिश का दौर जारी रहेगा। ऐसे में तापमान में आई गिरावट की वजह से लोगों को गर्मी से राहत मिल सकती है।

यह खबर भी पढ़ें— बिहार: मुजफ्फरपुर में आरजेडी के दो नेताओं को गोली मारी, दोनों की हालत नाजुक

 

यह खबर भी पढ़ें— तीन तलाक के बिल पर भाजपा का समर्थन नहीं करेगी JDU, कांग्रेस करेगी पुरजोर विरोध

48 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था पारा

यही नहीं चक्रवाती तूफान 'वायु' के चलते भी बदली हवा की दिशा से तापमान में कुछ गिरावट आई है। जिससे दिल्लीवासियों को भीषण गर्मी से कुछ राहत मिली है। इसी का नतीजा है कि दो पहले राजधानी के कई इलाकों में पारा 48 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था। वहीं अरब सागर से बहकर आने वाली आद्र हवाओं ने तापमान में 6 डिग्री तक की गिरावट ला दी।

यह खबर भी पढ़ें— 'वायु' चक्रवात: अशांत समुद्र में हलचल, 20 फीट ऊंची उठ रहीं लहरें, देखें वीडियो

 

 

दिल्ली पालम में अगले 7 दिनों तक मौसम
क्रमांक तिथि

न्यूनतम तापमान

(डिग्री सेल्सियस)

अधिकतम तापमान

(डिग्री सेल्सियस)

1 14 जून 30 44
2 15 जून 30 43
3 16 जून 31 40
4 17 जून 29 40
5 18 जून 29 42
6 19 जून 29 43
7 20 जून 30 43
Weather updates:

यह खबर भी पढ़ें— दिल्ली: DMRC ने भेजा मेट्रो में महिलाओं के मुफ्त सफर का प्रस्ताव, सरकार से मांगा 8 माह का समय

तापमान में गिरावट

दिल्ली के मौसम की बात करें तो यहां नम हवाओं ने बढ़ते तापमान की गति को रोक दिया है। यही वजह है कि सफदरजंग स्थित मौसम विभाग के केन्द्र में गुरुवार को दिल्ली का अधिकतम तापमान 41.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया। यह सामान्य से दो डिग्री सेल्सियस अधिक है।

यह खबर भी पढ़ें—मोंटी चड्ढा IGI एयरपोर्ट से गिरफ्तार, फ्लैट बायर्स से 100 करोड़ के फ्रॉड का आरोप

पटना में अगले 7 दिनों तक मौसम
क्रमांक

तिथि

न्यूनतम तापमान

(डिग्री सेल्सियस)

अधिकतम तापमान

(डिग्री सेल्सियस)

1 14 जून 31 42
2 15 जून 31 42
3 16 जून 27 42
4 17 जून 27 40
5 18 जून 28 40
6 19 जून 29 39
7 20 जून 29 40
Weather updates:

यह खबर भी पढ़ें— गुजरात तट को छू कर निकलेगा ‘वायु’ चक्रवात, सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाए गए 2 लाख लोग

38 डिग्री सेल्सियस हो सकता है तापमान

मौसम विभाग के अनुसार अगले एक हफते तक आंधी, घटा और बारिश का दौर जारी रहेगा। पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता की वजह से मंगलवार और बुधवार को हल्की बारिश होगी। आंधी और बारिश का यह क्रम तापमान को 38 डिग्री सेल्सियस तक ला सकता है।

यह खबर भी पढ़ें— कश्मीर: सोपोर में सुरक्षाबलों ने मार गिराया खूंखार आतंकी, स्कूल और इंटरनेट सेवाएं बंद

 

मेरठ में अगले 7 दिनों तक मौसम

क्रमांक

तिथि

न्यूनतम तापमान

(डिग्री सेल्सियस)

अधिकतम तापमान

(डिग्री सेल्सियस)

1 14 जून 27 41
2 15 जून 28 42
3 16 जून 28 42
4 17 जून 27 41
5 18 जून 26 40
6 19 जून 25 39
7 20 जून 25 38
Weather updates:

यह खबर भी पढ़ें— अमित शाह के एक्शन ISI में हड़कंप, कश्मीर में तैयार किया नया अलगाववादी ग्रुप

10 दिन लेट हो सकता है मानसून

मौसम विभाग के अनुसार वायु च्रकवाती तूफान मानसून को प्रभावित करेगा। मानसून पहले ही एक हफ्ते की देरी से चल रहा है। जिसमें अब 10 दिन तक की बढ़ोतरी हो सकती है। आपको बता दें कि दिल्ली और वेस्ट यूपी समेत उत्तर भारत के कई इलाकों में मानसून एक जुलाई को दस्तक देता है। अब वायु चक्रवात के प्रभाव की वजह से मानसून में 10 से 15 दिन का विलंब हो सकता है।

यह खबर भी पढ़ें— नवजोत सिंह सिद्धू को राहुल और प्रियंका की हिदायत, अनावश्यक बयानबाजी से पार्टी का नुकसान

 

Weather updates:

यह खबर भी पढ़ें— महाराष्ट्र: मुंबई में क्रिकेटर की हत्या से हड़कंप, हिरासत में महिला मित्र

जून में 50% तक मानसूनी बारिश!

वैज्ञानिकों के मुताबिक वायु चक्रवात से मानसून की गति प्रभावित हुई है। जिसकी वजह से जून माह में 40—50 प्रतिशत तक बारिश कम हो सकती है। दरअसल, उत्तर भारत में अधिकतर मानसूनी बारिश जुलाई माह में होती है। लेकिन अब मानसून में देरी की वजह से वेस्ट यूपी और उत्तरी भारत के इलाकों में बारिश काफी कम होगी।

यह खबर भी पढ़ें— बंगाल के साथ अब हड़ताल पर दिल्ली में डॉक्टर्स, एम्स में आज काम बहिष्कार

Weather updates:
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned