ब्रिटेन में उपचुनाव प्रचार सामग्री में पीएम मोदी की फोटो पर हंगामा, लेबर पार्टी पर भड़के भारतीय मूल के लोग

उत्तरी इंग्लैंड में उप चुनाव के लिए पार्टी की प्रचार सामग्री पर भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर का इस्तेमाल किए जाने के बाद काफी हंगामा हो रहा है।

नई दिल्ली। उत्तरी इंग्लैंड में उप चुनाव के लिए पार्टी की प्रचार सामग्री पर भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर का इस्तेमाल किए जाने के बाद काफी हंगामा हो रहा है। चुनाव में ब्रिटेन की प्रमुख राजनीतिक लेबर पार्टी की चुनाव सामग्री में प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर को लेकर की गई विवादित टिप्पणी की गई है। आरोप है कि लेबर पार्टी उत्तरी इंग्लैंड में उपचुनाव में प्रधानमंत्री मोदी का विरोध कर वोट हासिल करने की कोशिश कर रही है। जिसके बाद लेबर पार्टी पर फूट डालने का आरोप लगा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का विरोध कर वोट पाने की कोशिश
उपचुनाव में लेबर पार्टी प्रधानमंत्री मोदी का विरोध कर वोट पाने की कोशिश कर रही है। लेबर पार्टी की प्रचार सामाग्री पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कंजरवेटिव पार्टी के नेता और ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन से हाथ मिलाते हुए तस्वीर छपी है। इसमें पीएम मोदी से बचकर रहने की बात लिखी गई है। लेबर पार्टी का कहना है कि अगर वहां के लोगों ने दूसरी पार्टी को वोट दिया तो ऐसी तस्वीर दिखने का रिस्क है।

यह भी पढ़ें :- भारत ने जम्मू-कश्मीर में ड्रोन आतंकी हमले का मुद्दा UN में उठाया, बुधवार को PM मोदी ने बुलाई मंत्रियों की बैठक

लेबर पार्टी पर भड़के भारतीय मूल के लोग
उत्तरी इंग्लैंड में उपचुनाव के लिए पार्टी की प्रचार समाग्री पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर का इस्तेमाल किए जाने के बाद प्रवासी भारतीय समूहों ने ब्रिटेन की विपक्षी लेबर पार्टी को 'विभाजनकारी' और 'भारत विरोधी' करार दिया।

टोरी सांसद भी गुस्साए
कंजर्वेटिव पार्टी के नेता और सांसद रिचर्ड होल्डन ने ट्विटर पर इसकी एक तस्वीर शेयर की है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रही इस पोस्ट पर लोग जमकर कमेंट कर रहे है। उनसे पूछा गया कि क्या इसका मतलब यह है कि लेबर पार्टी के नेता सर कीर स्टार्मर भारतीय प्रधानमंत्री से हाथ नहीं मिलाएंगे? लेबर पार्टी के भारतीय मूल के वरिष्ठ सांसद वीरेन्द्र शर्मा ने भी इस चुनावी पोस्टर की निंदा की है।

यह भी पढ़ें :- संसदीय समिति ने FB इंडिया से 200 मिनट में पूछे 100 सवाल, जवाब देने के लिए मिले 7 दिन

 

 

भारतीय समुदाय संगठन ने पूछे सवाल
वहीं, दूसरी ओर एक भारतीय समुदाय संगठन, द कंजर्वेटिव फ्रेंड्स ऑफ इंडिया (सीएफआईएन) ने सवाल पूछा है कि प्रिय कीर स्टारर, क्या आप कृपया इस प्रचार सामग्री की व्याख्या कर सकते हैं और स्पष्ट कर सकते हैं कि क्या लेबर पार्टी का कोई नेता, एक प्रधानमंत्री/राजनेता, जो दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र का सदस्य है, क्या उससे संबंध बनाने से इंकार कर देगा।

Shaitan Prajapat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned