scriptBombay High Court transfers CPI leader Govind Pansare murder investigation to Maharashtra ATS from SIT | Govind Pansare: बॉम्बे हाईकोर्ट ने गोविंद पानसरे की हत्या की जांच ATS को सौंपी, 7 साल बाद भी नहीं पकड़े गए सीपीआई नेता के हत्यारे | Patrika News

Govind Pansare: बॉम्बे हाईकोर्ट ने गोविंद पानसरे की हत्या की जांच ATS को सौंपी, 7 साल बाद भी नहीं पकड़े गए सीपीआई नेता के हत्यारे

Maharashtra Govind Pansare Case: पानसरे की बहू और कार्यकर्ता मेघा पानसरे ने हाईकोर्ट से महाराष्ट्र सीआईडी की बजाय राज्य एटीएस से हत्याकांड की जांच करवाने का अनुरोध किया था। जिस पर सुनवाई करते हुए बॉम्बे हाईकोर्ट ने गोविंद पानसरे की हत्या की जांच राज्य एसआईटी से महाराष्ट्र एटीएस को ट्रांसफर कर दी है।

मुंबई

Published: August 03, 2022 01:16:40 pm

Govind Pansare Murder Case: बॉम्बे हाईकोर्ट ने वामपंथी नेता गोविंद पानसरे की हत्या के मामले की जांच महाराष्ट्र आतंकवाद रोधी दस्ते (एटीएस) को सौंप दी है। पिछले सात वर्षों से इस मामले की जांच विशेष जांच दल (एसआईटी) कर रही थी। पानसरे की फरवरी 2015 में महाराष्ट्र के कोल्हापुर में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।
Maharashtra Govind Pansare Murder Case
महाराष्ट्र एटीएस करेगी सीपीआई नेता गोविंद पानसरे की हत्या की जांच
पानसरे की बहू और कार्यकर्ता मेघा पानसरे ने हाईकोर्ट से महाराष्ट्र सीआईडी की बजाय राज्य एटीएस से हत्याकांड की जांच करवाने का अनुरोध किया था। जिस पर सुनवाई करते हुए बॉम्बे हाईकोर्ट ने गोविंद पानसरे की हत्या की जांच राज्य एसआईटी से महाराष्ट्र एटीएस को ट्रांसफर कर दी है।
यह भी पढ़ें

Maharashtra: इगतपुरी और कसारा के बीच बनेगी सबसे बड़ी सुरंग, रेल यात्रियों की यह समस्या होगी दूर, रेलवे का बचेगा पैसा

साल 2015 में कोर्ट के आदेश पर महाराष्ट्र के आपराधिक जांच विभाग (सीआईडी) ने गोविंद पानसरे के हत्यारों को पकड़ने के लिए एक विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया था। पानसरे के परिजनों का आरोप है कि एसआईटी ने पिछले सात वर्षों में मामले में कोई प्रगति नहीं की है। अभी भी हत्यारे कानून के शिकंजे से बाहर है। हालांकि कुछ आरोपी हिरासत में हैं। लेकिन हत्याकांड का पर्दाफाश होना बाकि है।
पानसरे के परिवार की केस ट्रांसफर करने की याचिका पर सीआईडी ने कहा कि एटीएस भी राज्य सरकार की एक जांच एजेंसी है, इसलिए यदि जांच उसे सौंपी जाती है तो उसे कोई आपत्ति नहीं है।
पानसरे की कोल्हापुर में 16 फरवरी 2015 को गोली मारी गयी थी और कुछ दिनों बाद 20 फरवरी को उनकी इलाज के दौरान मौत हो गयी थी। एक अन्य केस के आरोपियों ने पूछताछ में खुलासा किया था कि फरार आरोपी सचिन अंदुरे और विनय पवार पानसरे मामले के कथित शूटर है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

'इनकी पुरानी आदत है पूरे सिस्टम पर हमला करने की', कपिल सिब्बल के बयान पर बोले कानून मंत्री किरेण रिजिजूअरविंद केजरीवाल ने कहा- देश की राजनीति में परिवारवाद और दोस्तवाद खत्म कर भारतवाद लाएंगेMaharashtra Cabinet Expansion: कल हो सकता है शिंदे मंत्रिमंडल का विस्तार, CM आवास पहुंचे देवेंद्र फडणवीसAmit Shah Visit To Odisha: अमित शाह बोले- ओडिशा में अच्छे दिन अनुभव कर रहे लोग, सीएम नवीन पटनायक की तारीफ भी की'नीतीश BJP का साथ छोड़े तो हम गले लगाने को तैयार', बिहार में मचे सियासी घमासान पर बोले RJD नेता शिवानंद तिवारीगालीबाज भाजपा नेता पर रखा गया 25 हजार का इनाम, 40 टीमें तलाश में जुटीTET घोटाले में हुआ बड़ा खुलासा, शिंदे गुट के विधायक अब्दुल सत्तार की बेटियों के नाम आए सामने, शिवसेना ने बोला हमलाShirdi Flood: शिरडी में भारी बारिश से हाहाकार, सरकारी विश्राम गृह और साईं प्रसादालय पानी में डूबा, देखें तस्वीरें
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.