लैपटॉप लेने गई छात्रा का युवक ने बना लिया ऐसा वीडियो, अब सहेली की तलाश कर रही पुलिस

लैपटॉप लेने गई छात्रा का युवक ने बना लिया ऐसा वीडियो, अब सहेली की तलाश कर रही पुलिस

Rahul Chauhan | Publish: Sep, 11 2018 04:17:08 PM (IST) | Updated: Sep, 11 2018 04:20:54 PM (IST) Muzaffarnagar, Uttar Pradesh, India

पुलिस ने आरोपी का चालान कर उसे जेल भेज दिया है। इस मामले में नामजद आरोपी के सहयोगी उसका भाई, भाभी व बहन यानि कि पीडिता की सहेली फरार चल रही है।

शामली। कैराना में घर पर लैपटॉप लेने गई बी-कॉम की छात्रा के साथ गैर संप्रदाय की सहेली के भाई द्वारा दुष्कर्म करने तथा अश्लील वीडि़यो क्लिप बनाकर उसे वायरल करने की धमकी देकर दो साल तक हवस का शिकार बनाने के मामले में वांछित चल रहे मुख्य आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपी का चालान कर उसे जेल भेज दिया है। इस मामले में नामजद आरोपी के सहयोगी उसका भाई, भाभी व बहन यानि कि पीडिता की सहेली फरार चल रही है।

यह भी पढ़ें : अखिलेश सरकार जो नहीं कर पाई, अब योगी सरकार करने जा रही वो काम

यह है पूरा मामला

शामली सदर कोतवाली क्षेत्र के ग्राम खेड़ीकरमू निवासी बी-कॉम की छात्रा ने पिछले दिनों कोतवाली पर मुकदमा दर्ज कराया था। जिसमें उसने कहा था कि उसकी क्लास में पढ़ने वाली युवती निवासी ग्राम भूरा थाना कैराना से दोस्ती हुई थी। जो उसका लैपटॉप मांगकर अपने घर ले गई थी। घटना लगभग दो वर्ष पूर्व की है, जब वह सहेली के घर पर अपना लैपटॉप लेने के लिए पहुंची, तभी सहेली के भाई मेहरबान ने उसे नशीला पदार्थ खिलाकर जबरदस्ती दुष्कर्म कर लिया।

यह भी पढ़ें : इस वजह से महागठबंधन से अलग हुईं मायावती

यही नहीं, अश्लील वीडियो क्लिप भी बना ली गई थी। जिसके बाद आरोपी उक्त वीडियो को वायरल करने की धमकी देते हुए उसे दो सालों तक ब्लैकमेल करता रहा। पीड़िता का कहना है कि विरोध करने पर मुख्य आरोपी मेहरबान ने अपनी बहन और उसकी सहेली, भाई व भाभी भूरा निवासी ग्राम भूरा तथा दो अज्ञात के साथ मिलकर उसके घर पर जाकर ही गाली-गलौज की और रिपोर्ट लिखवाने पर जान से मारने की धमकी भी दी।

यह भी पढ़ें : यूपी के इस जिले में बाढ़ के बाद अब बुखार का कहर, हर घर में बेड पर तड़प रहे मरीज

पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर छात्रा का मेडिकल कराया था। तभी से मामले में आरोपी फरार चले आ रहे हैं। पुलिस ने बताया कि सोमवार की सुबह मुख्य आरोपी मेहरबान को उसके घर से ही गिरफ्तार कर लिया गया है। बाद में उसे जेल भेज दिया गया है। मामले में आरोपी के तीन नामजद सहयोगी अभी भी फरार चल रहे हैं, जिनकी तलाश की जा रही है।

Ad Block is Banned