कोरोना से जान गंवाने वालों के परिजनों को 2.47 करोड़ की आर्थिक सहायता

मुख्यमंत्री कोरोना सहायता योजना से मिल रहा है सम्बल

By: shyam choudhary

Published: 21 Jul 2021, 11:24 AM IST

नागौर. राज्य सरकार द्वारा घोषित मुख्यमंत्री कोरोना सहायता योजना की क्रियान्विति जिले में जिला कलक्टर डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी के नेतृत्व में कुशलतापूर्वक की जा रही है। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक रामदयाल मांजू ने बताया कि जिले में इस योजना के तहत कोरोना काल में कोविड-19 से पति की मृत्यु होने पर विधवा हुई जिले की 228 महिलाओं को 1-1 लाख रुपए एक्स ग्रेसिया राशि एवं प्रत्येक महिला को 1500 रुपए की आजीवन मासिक पेंशन की स्वीकृतियां जारी की गई हैं, जिनका प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण के रूप में राशि प्रार्थियों के खातों में जमा करवा दी गई है।

इसी प्रकार मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना के तहत जिले में कोरोना के कारण विधवा हुई 180 महिलाओं के बच्चों के लिए, प्रत्येक बच्चे को एक हजार रुपए प्रतिमाह एवं 2000 रुपए की एकमुश्त वार्षिक सहायता (ड्रेस, पाठ्य सामग्री आदि) के लिए बच्चे की आयु 18 वर्ष पूर्ण होने तक की गई है।
इस योजना में जिले में कोरोना से अनाथ हुए 10 बच्चों को भी योजना के लाभ के रूप में प्रत्येक को एक लाख रुपए की नकद सहायता, प्रत्येक को 2500 रुपए प्रतिमाह आर्थिक सहायता तथा इन बच्चों के 18 वर्ष की आयु पूर्ण होने पर प्रत्येक को 5 लाख रुपए की आर्थिक सहायता दिए जाने की स्वीकृतियां जारी की गई हैं। इस योजना के तहत अब तक दो करोड़ सैंतालिस लाख रुपए की आर्थिक सहायता राशि संबंधित लाभार्थियों के खाते में भुगतान हेतु व्यय की गई है।
इस योजना में जिला कलक्टर डॉ. सोनी द्वारा सहायक निदेशक, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग को सदस्य सचिव एवं अतिरिक्त जिला कलक्टर को योजना का प्रभारी अधिकारी नियुक्त करते हुए जिला स्तरीय कमेटी एवं उपखण्ड अधिकारियों की अध्यक्षता में ब्लॉक स्तरीय कमेटीयों का गठन कर इस योजना का लाभ त्वरित प्रभाव से पात्र लोगों को दिया गया है।

shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned