कोरोना महामारी की किस स्टेज में पहुंचा भारत, WHO की चीफ साइंटिस्ट ने बताई स्थिति

WHO की साइंटिस्ट सौम्या स्वामीनाथन ने कहा- भारत में अब कोरोना महामारी एंडेमिक स्टेज में पहुंचती जा रही है

By: धीरज शर्मा

Published: 25 Aug 2021, 07:55 AM IST

नई दिल्ली। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन ( WHO ) की चीफ साइंटिस्ट डॉ. सौम्या स्वामीनाथन ने भारत में कोरोना संक्रमण ( Coronavirus in india ) की हालातों को लेकर बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि, भारत में कोरोना महामारी अब एंडेमिक स्टेज में पहुंचती जा रही है। इसके फैलने की दर पहले के मुकाबले काफी धीमी या कम हो चुकी है।

तकनीकी तौर पर एंडेमिक स्टेज का मतलब किसी महामारी का असर कम लोगों या किसी खास इलाके तक सीमित रहने से है। यही नहीं उन्होंने ये भी कहा कि वायरस अब पहले के मुकाबले कमजोर हो चुका है, हालांकि अभी कुछ समय तक लोगों को इन्हीं हालातों के साथ जीना होगा।

यह भी पढ़ेंः Corona Vaccination: अब तक 1.6 करोड़ लोगों ने तय समय में नहीं लगवाई दूसरी खुराक, 60 फीसदी से ज्यादा बुजुर्ग शामिल

सितंबर के मध्य तक कोवैक्सीन को मिल सकता है क्लीयरेंस
भारत में दूसरी लहर के बाद कोरोना के मामले तेजी से कम हुए हैं। चीफ साइंटिस्ट ने कोरोना की देसी वैक्सी कोवैक्सीन के क्लीयरेंस को लेकर कहा कि, 'मुझे भरोसा है कि WHO की टेक्निकल टीम इससे संतुष्ट होगी और इसे जल्द या सितंबर के मध्य तक ऑथोराइज्ड वैक्सीन का दर्जा प्राप्त हो जाएगा।'

स्वामीनाथन ने कहा कि, भारत के आकार और देश के अलग अलग हिस्सों में जनसंख्या की विविधता और इम्यूनिटी की स्थिति को देखते हुए, यह 'बहुत संभव' है कि कोरोना संक्रमण की स्थिति इसी तरह जारी रह सकती है।

2022 तक 70 फीसदी आबादी होगी वैक्सीनेटेड
सौम्या ने कहा कि, उम्मीद है 2022 के अंत तक हम 70 फीसदी आबादी को वैक्सीनेटेड करने में कामयाब होंगे। इसके बाद देशों में हालात एक बार फिर सामान्य हो सकते हैं।

यह भी पढ़ेंः coronavirus s Third Wave: इस महीने में पीक पर हो सकते हैं कोविड केस, गृहमंत्रालय ने पीएमओ को सौंपी रिपोर्ट

बच्चों को लेकर ना घबराएं माता-पिता
बच्चों में कोविड के प्रसार पर स्वामीनाथन ने कहा कि माता-पिता को घबराने की जरूरत नहीं है। हमने सीरो सर्वेक्षण करवाए हैं, इसके देखें तो अन्य देशों से जो सीखा है, उससे पता चलता है कि यह संभव है कि बच्चे संक्रमित हो सकते हैं। हालांकि उनमें जोखिम ज्यादा गंभीर नहीं होगा। बहुत कम बच्चों में इसके गंभीर लक्षण पाए गए हैं। लेकिन, इसके बावजूद हमें तैयारी पूरी रखनी चाहिए।

Coronavirus in india coronavirus
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned