150 से अधिक झुग्गी झोपड़ियों में लगी भयंकर आग, दो मासूम जिंदा जलें मचा काेहराम

बहलोलपुर की झुग्गी झोपड़ियो में लगी भीषण आग, 150 झोपड़ियां जल कर खाक, दो बच्चों की दर्दनाक माैत 17 से अधिक गाड़ियां आग बुझाने में लगी।

By: shivmani tyagi

Updated: 11 Apr 2021, 10:26 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

नोएडा noida फेज-3 स्थित सेक्टर 65 के बहलोलपुर इलाकों की झुग्गी-झोपड़ियों में भीषण Fire आग लग गई। आग की लपटों ने देखते ही देखते 100 से अधिक झोपड़ियां काे अपनी चपेट में ले लिया। इससे माैके पर अफरा-तफरी मच गई और दाे मासूम जिंदा जल गए। आग पर काबू पाने के लिए करीब 17 फायर टेंडर्स को बुलाया गया है जो लपटों पर काबू पाने में जुटी हुई हैं।

यह भी पढ़ें: कुशीनगर पिकअप-ट्रक में टक्कर के बाद आग लगी, ड्राइवर और खलासी जिंदा जले गए

आशंका जताई जा रही है कि इस दुर्घटना में कुछ और जान हानि भी हुई हाे। फिलहाल दमकलकर्मियों की टीमें आग काे बुझाने में लगी हुई है। फायर ऑफिसर अरुण कुमार ने पूछने पर बताया कि आग काफी भयंकर है। लपटों पर काबू पाना पहली प्राथमिकता है। लपटों पर काबू पा लिए जाने और पूर्ण रूप से आग बुझा लिए जाने के बाद सर्च अभियान चलाया जाएगा। इसके बाद ही यह पता चला सकेगा कि कहीं कोई और कैजुअल्टी तो नहीं हुई है। उनका कहना है कि आग लगने के कारणों का अभी तक पता नहीं चल सका है।

यह भी पढ़ें: BIG Breaking : कोरोना से मरने वालों की बढ़ी इतनी संख्या कि बनाने पड़ रहे हैं नये शवदाह गृह, स्थिति भयावह

यह दुर्घटना दोपहर करीब दाे बजे हुई। सेक्टर 65 के निकट बहलोलपुर में झुग्गी झोपडियों तथा कबाड़ के गोदाम में आग लग गई। तेज हवाओं के कारण आग तेजी से फैलती गई और कबाड़ के गोदाम के आस-पास की झुग्गियों को अपनी चपेट में लिया। वहाँ फैले प्लास्टिक की पन्नी, बोतलों, आदि कबाड़ के ढेर के कारण आग तेजी से झुग्गियों भाग में फैल गई। झुग्गियों में रहने वाले लाेगाें ने इसकी सूचना पुलिस को दी। जब तक दमकलकर्मियों की टीमें माैके पर पहुंची हालात बेकाबू हो गए। 100 से अधिक झुग्गियां पूरी तरह से जल गई और दो बच्चे जिंदा ही जल गए।

नोएडा सेंट्रल के डीसीपी हरीश चंद्र ने बताया की इस हादसे में करीब 150 झुग्गियों के जलने और दो बच्चों के मौत होने की जानकारी है। फायर ब्रिगेड टीमें समय से माैके पर पहुंच गई थी लेकिन एक झुग्गी में गैस सिलेंडर फटने से और तेज हवाओं के कारण लपटें तेजी से फैल गई। जिन दाे बच्चों के शव मिले हैं वह झोपड़ी के अंदर साे रहे थे।

यह भी पढ़ें: आजमगढ़ में आग ने मचाई तबाही, दो बच्चों की झुलसकर मौत, 74 कच्चे मकान खाक

सीएफ़ओ अरुण कुमार ने बताया कि घटना की गंभीरता को देखते हुए 17 फायर टेंडर और चार एसएसओ भेजे गए। आग का क्षेत्र काफी बड़ा था इसमें झोपड़ियों से कहीं अधिक प्लास्टिक की पन्नी, बोतलों,आदि कबाड़ के ढेर जगह-जगह फैले थे जिसके कारण आग तेजी बड़े भाग में फैल गई। 17 गाड़ियों की मदद से लगभग दो घंटे में आग की भयंकर लपटों पर भारी मशक्कत के बाद नियंत्रण पाया गया। आग को पूर्ण रूप से बुझाने का काम जारी है।

यह भी पढ़ें: राहत: अभी बेकार नहीं होगा आपका PAN card, सरकार ने बढ़ाई आधार से लिंक कराने की आखिरी तारीख

यह भी पढ़ें: एलोवेरा शैंपू लगाने वालों के लिए जरूरी खबर, कहीं आप भी तो नहीं हो रहे धोखे का शिकार

यह भी पढ़ें: पंचायत चुनाव में दावतों के दाैर ने बढ़ा दिए मुर्गों के दाम, 120 में मिलने वाला मुर्गा 200 के पार

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned