पंचायत चुनाव में दावतों का दौर शुरू होते ही बढ़ गए मुर्गों के दाम

Highlights

गांव में चल रही मुर्गा पार्टियों की वजह से बढ़ीं मुर्गों की डिमांड

100 रुपये किलों तक बिक रहे मुर्गों का भाव 200 के पार हुआ

By: shivmani tyagi

Updated: 03 Apr 2021, 05:55 PM IST

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क

सहारनपुर .पंचायत चुनाव ( Panchayat Chunav 2021 ) की घोषणा होते ही गांव में पार्टियों का दौर शुरू हो गया है। चोरी चुपके गांव में शराब और मुर्गों ( cock ) की दावतें चल रही हैं। ग्राम प्रधान का चुनाव ( Gram Pradhan Chunav ) जीतने के लिए प्रत्याशी खुलकर दावतें दे रहे हैं। यही कारण है कि मुर्गों की कीमतों में अचानक से बढ़ोतरी हो गई है। पिछले सप्ताह तक मुर्गा 130 से 140 रुपये प्रति किलो बाजार में बिक रहा था लेकिन अब मुर्गे के दाम बढ़कर 200 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गए हैं।

यह भी पढ़ें: अब नहीं लगाने होंगे अस्पताल के चक्कर corona vaccination के लिए घर बैठे करें रजिस्ट्रेशन, जानिए तरीका

सहारनपुर समेत कई जिलों में प्रथम चरण में पंचायत चुनाव ( UP Panchayat Chunav ) होने हैं। जिन गांव में पहले चरण में चुनाव होने हैं वहां पर रात भर दावतों का दौर चल रहा है। इसका कारण यह भी है कि इन गांव में मतदान के लिए अब काफी कम समय शेष बचा है। प्रत्याशियों को लुभाने के लिए हर गांव में दावतें उड़ाई जा रही हैं। पुरुषों के लिए प्रत्याशियों के घर और घेर में प्रोग्राम चल रहे हैं तो महिलाओं को उनके घर पर ही पकवान भिजवाऐं जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें: UP Panchayat Elections: ओवैसी और राजभर ने बनाया जीत का मास्टरप्लान, इस फॉर्मूले से होगा सीटों का बंटवारा

ऐसे में प्रत्याशियों ने अलग-अलग इंतजाम किए हैं। शाकाहारी प्रत्याशियों के लिए अलग खाना बनाया जाता है तो मांसाहारी प्रत्याशियों के लिए मुर्गे और शराब की दावत अलग से होती हैं। यही कारण है कि एकाएक मुर्गों की कीमतों में उछाल आ गया है। दरअसल बाजार में मुर्गों की डिमांड अचानक बढ़ गई है। गांव में ताे मुर्गे अब ढूंडे भी नहीं मिल रहे।

यह भी पढ़ें: अनोखा दरबार जहां मांगी गई मन्नत पूरी हाेने पर हिन्दू-मुस्लिम सभी चढ़ाते हैं मुर्गा

मुर्गा व्यापारी मोहकम सिंह के अनुसार पिछले दिनों बर्ड फ्लू की दस्तक के बाद मुर्गे की कीमतों में काफी गिरावट आ गई थी। 100 रुपये किलो भी मुर्गा नहीं बिक रहा था। इसी तरह से अंडों की भी दुर्दशा हो गई थी और दो रुपये में भी अंडा नहीं बिक रहा था लेकिन अब ग्राम पंचायत चुनाव ( Gram Pradhan Election ) ने मुर्गा व्यापारियों के चेहरे खिला दिए हैं। मुर्गों की कीमतें 200 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गई हैं उन्होंने उम्मीद जताई है कि जैसे-जैसे मतदान नजदीक आएगा चुनाव प्रचार बढ़ेगा तो मुर्गों की कीमत और भी ऊपर जा सकती हैं।

Show More
shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned