योगी सरकार का बड़ा तोहफा इस जिले के किसान बन जाएंगे करोड़पति

जून माह से शुरू हो सकती है प्रक्रिया

By: Nitin Sharma

Published: 26 Apr 2018, 03:40 PM IST

नोएडा।उत्तर प्रदेश में शो विंडो कहे जाने वाले इस जिले के किसानों को योगी सरकार जल्द ही बड़ा तोहफा देने वाली हैं। जिसके बाद यहां के किसान करोड़पति बन जाएंगे। जी,हां इसके लिए सरकार द्घारा तैयारी कर ली गर्इ है। इस संबंध में जिलाधिकारी को भी आदेश जारी कर 330 करोड़ रुपये भी भेज दिए हैं। बस कुछ ही महीनों बाद ये रुपया सरकारी प्रक्रिया के बाद किसानों को दिया जाएंगा। जिसके बाद किसान करोड़पति बन जाएंगे। पहले चरण में मुख्य रूप से आठ गांवों के किसानों को इसका फायदा मिलेगा।

यह भी पढ़ें-पति ने पत्नी की थाने में बतार्इ एेसी बात, जिसे सुनकर चौंक गर्इ पुलिस

इस जिले के लोगों को होगा सबसे बड़ा फायदा

यूपी के शो विंडो कहे जाने वाले गौतमबुद्धनगर में पिछले काफी समय से चल रही जेवर एयरपोर्ट की मांग के बाद अनुमति मिल गर्इ है। जेवर में बनने जा रहे देश के सबसे बड़े इंटरनेशनल एयरपोर्ट का अक्टूबर माह से निर्माण का काम शुरू हो जाएंगा। इसके लिए जून माह में नोडल एजेंसी बिड डॉक्युमेंट तैयार कर जून में ग्लोबल टेंडर जारी करेगी। तीन महीनों में इसकी टेंडर प्रक्रिया पूरी होनी है। वहीं इसी फेज में आठ गांवों की जमीन का अधिग्रहण किया जाएंगा। जिसके बदले में किसानों को सरकार मुआवजा देगी।

यह भी पढ़ें-कोर्ट के फैसले खुश लेकिन आसाराम की सजा को इस परिवार ने बताया कम

आठ गांव के किसानों को मिलेंगा सबसे बड़ा फायदा

वहीं अधिकारियों के अनुसार एयरपोर्ट के लिए पहले चरण में 8 गांवों की 1327 हेक्टेयर जमीन अधिग्रहित की जाएगी। यमुना अथॉरिटी ने अधिग्रहण का प्रस्ताव तैयार कर डीएम को सौंप दिया है। किसानों को मुआवजा बांटने के लिए सरकार ने डीएम को 330 करोड़ रुपये भी भेज दिए हैं। इन्हें अभी सुरक्षित रखा गया है। पर्यावरण मंत्रालय से अनुमति मिलने व पहले चरण में किसानों की जमीनों के अधिग्रहण के बाद किसानों को उनकी मुआवजा राशी दी जाएगी। जिसके बाद जिले के किसान करोड़पति हो जाएंगे।

यह भी पढ़ें-एटीएम में कैश की कमी के बाद अब इस वजह से तीन दिन बंद रहेंगे बैंक

देश का सबसे बड़ा होगा ये एयरपोर्ट

वहीं यमुना अधिकारियों की माने तो जेवर में बनने जा रहा इंटरनेशनल एयरपोर्ट क्षेत्रफल के अनुसार देश के सबसे बड़े एयरपोर्ट में शामिल होगा। इतना ही नहीं इसके साथ ही इस प्रोजेक्ट में दो रन-वे बनाए जाएंगे। जिसके बाद यहां एयरपोर्ट की पैसेंजर कैपिसिटी हर वर्ष करीब 70 मिलियन होगी। वहीं इस पर कार्गों कैपिसिटी भी काफी ज्यादा होगी।

Show More
Nitin Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned