वियतनाम ओपन: स्वर्ण से चूके अजय जयराम, रजत पदक से करना पड़ा संतोष

वियतनाम ओपन: स्वर्ण से चूके अजय जयराम, रजत पदक से करना पड़ा संतोष

Prabhanshu Ranjan | Publish: Aug, 12 2018 06:17:40 PM (IST) अन्य खेल

वियतनाम ओपन के फाइनल में भारत के बैडमिंटन प्लेयर अजय जयराम को निराशा हाथ लगी। सीधे सेटों में मिली मात के कारण उन्हें रजत से संतोष करना पड़ा।

नई दिल्ली। भारतीय शटलर अजय जयराम को इंडोनेशिया के शेसार हिरेन हुस्तावितो से रविवार को लगातार गेमों में 14-21 10-21 से पराजित होकर वियतनाम ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट में रजत पदक से संतोष करना पड़ा। गैर वरीयता प्राप्त जयराम सातवीं सीड जापान के यू इगाराशी को उलटफेर का शिकार बनाते हुये फाइनल में पहुंचे थे लेकिन वह अपनी लय को खिताबी मुकाबले में बरकरार नहीं रख पाए।

विश्व में 93वीं रैंकिंग के जयराम 79वीं रैंकिंग के इंडोनेशिया के हुस्तावितो के सामने खास चुनौती नहीं पेश कर सके और मात्र 28 मिनट में पराजित हो गए। हुस्तावितो ने इससे पहले सेमीफाइनल में एक अन्य भारतीय खिलाड़ी मिथुन मंजूनाथ को हराया था। जयराम और हुस्तावितो के बीच इससे पहले करियर में पांच वर्ष पूर्व 2013 के थाईलैंड ओपन में मैच हुआ था और तब जयराम ने तीन गेमों के संघर्ष में 21-11,19-21, 21-9 से हुस्तावितो को मात दी थी।

दक्षिण कोरिया की पुरुष युगल जोड़ी शिन बाएक चेयोल और को सुंग ह्यून ने अच्छा प्रदर्शन कर रविवार को वियतनाम ओपन के पुरुष युगल वर्ग का खिताब अपने नाम किया। शिन और सुंग ने पुरुष युगल वर्ग के फाइनल में ताइवान की ली शेंग मु और यांग पो सुआन की जोड़ी को मात दी। शिन और सुंग ने वर्ल्ड नम्बर-184 शेंग और यांग की जोड़ी को फाइनल में 33 मिनटों के भीतर सीधे गेमों में 22-20, 21-18 से मात देकर खिताबी जीत हासिल की।

इसके अलावा, मिश्रित युगल वर्ग में थाईलैंड की निपितफोन फुआंगफुआपेत और सावित्री अमित्रापाई ने खिताब पर कब्जा जमाया। निपितफोन और सावित्री ने फाइनल मुकाबले में इंडोनेशिया की अल्फियान एको और मार्शिले गिस्चा इस्लामी की जोड़ी को 54 मिनटों तक चले संघर्ष में 13-21, 21-18, 21-19 से हराकर जीत हासिल की।

सिंगापुर की बैडमिंटन खिलाड़ी येओ जिया मिन ने रविवार को वियतनाम ओपन का खिताब अपने नाम किया। महिला एकल वर्ग के फाइनल में वर्ल्ड नम्बर-92 जिया मिन ने चीन की हान युवे को मात दी। जिया मिन ने वर्ल्ड नम्बर-27 हान को 35 मिनटों तक चले मुकाबले में सीधे सेटों में 21-19, 21-19 से मात दी और स्वर्ण पदक जीता। जिया मिन पहली बार चीन की खिलाड़ी हान का सामना कर रही थीं और ऐसे में उन्होंने बिना किसी दबाव के अच्छा खेल दिखाकर खिताबी जीत हासिल की।

इसके अलावा, महिला युगल वर्ग में का खिताब जापान की मिसाटो अराटामा और अकाने वतानबे ने अपने नाम किया।मिसाटो और अकाने ने फाइनल मैच में 35 मिनटोंके भीतर अपनी हमवतन जोड़ी नामी मात्सुयामा और चिहारु सीदा को सीधे गेमों में 21-18, 21-19 से हराकर सोना जीता।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned