धारा 370 पर दुनियाभर में मुंह की खाने के बाद इमरान की नई चाल, PoK में मनाएंगे स्वतंत्रता दिवस

  • पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान 14 अगस्त को मुजफ्फराबाद असेंबली को करेंगे संबोधित
  • पाकिस्तान ने भारतीय स्वतंत्रता दिवस यानी 15 अगस्त को काला दिवस के तौर पर मनाने का फैसला किया है

By: Anil Kumar

Updated: 14 Aug 2019, 08:41 AM IST

इस्लामाबाद। जम्मू-कश्मीर से धारा 370 के हटने के बाद बौखलाए पाकिस्तान ने दुनिया के सामने भारत को घेरने की हर मुमकिन कोशिश की, लेकिन पाकिस्तान को हर मंच पर मुंह की खानी पड़ी। अब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने तिलमिलाहट में एक बड़ा फैसला किया है।

पाकिस्तान में कश्मीर मुद्दे को लेकर जारी घमासान के बीच इमरान खान ने ऐलान किया है कि वह इस बार देश का स्वतंत्रता दिवस (14 अगस्त) पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में मनाएंगे।

जम्मू-कश्मीर को लेकर मोदी सरकार का बड़ा फैसला, 15 अगस्त को लाल चौक पर झंडा फहराएंगे अमित शाह!

पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, यह जानकारी प्रधानमंत्री कार्यालय के एक बयान में दी गई है। इसमें कहा गया है कि प्रधानमंत्री स्वतंत्रता दिवस 'आजाद जम्मू एवं कश्मीर' में मनाएंगे। बता दें कि पाकिस्तान अपने कब्जे वाले कश्मीर को 'आजाद जम्मू एवं कश्मीर' कहता है।

इमरान खान

मुजफ्फराबाद एसेंबली को करेंगे संबोधित

पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट में बताया गया है कि इमरान खान के साथ कई संघीय मंत्री भी 'आजाद जम्मू एवं कश्मीर' की राजधानी मुजफ्फराबाद जाएंगे। इमरान खान वहां एक सर्वदलीय बैठक में हिस्सा लेंगे और फिर मुजफ्फराबाद की विधानसभा को संबोधित करेंगे। बयान में कहा गया है कि इमरान विभिन्न राजनैतिक दलों के नेताओं से अलग से मुलाकात भी करेंगे।

पाकिस्तान पहले ही यह ऐलान कर चुका है कि भारत की ओर से जम्मू एवं कश्मीर के विशेष दर्जे में बदलाव के खिलाफ वह इस बार 14 अगस्त को अपना स्वतंत्रता दिवस 'कश्मीर एकजुटता दिवस' व भारतीय स्वाधीनता दिवस (15 अगस्त) को 'काला दिवस' के रूप में मनाएगा।

आर्टिकल 370 पर पाकिस्तान को मिला तगड़ा झटका, टूटी UNSC से यह आखिरी उम्मीद

पाकिस्तान की सरकार ने 'कश्मीर एकजुटता दिवस' के लिए एक विशेष लोगो (LOGO) भी जारी किया है, जिस पर 'कश्मीर बनेगा पाकिस्तान' नारा लिखा हुआ है।

मालूम हो कि केंद्र की मोदी सरकार ने एक एतिहासिक फैसला लेते हुए जम्मू-कश्मीर से धारा 370 को खत्म कर दिया और फिर उसे दो भागों में बांटते हुए केंद्र शासित प्रदेश बना दिया। लद्दाख को एक अलग केंद्र शासित प्रदेश, जबकि जम्मू-कश्मीर को एक अलग केंद्र शासित प्रदेश बनाया गया है।

पाकिस्तान भारत के इस कदम से बौखला गया है। लिहाजा पाकिस्तान ने इस मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में उठाने की बात कही है, पर किसी भी देश से कोई सकारात्मक संकेत नहीं मिलने के कारण अब पाकिस्तान अलग तरह की रणनीति अपना रहा है।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned