Article 370 : चिदंबरम के बयान पर जेपी नड्डा का पलटवार, कांग्रेस की नीति को बताया गंदी चाल

 

  • Article 370 के मुद्दे पर कांग्रेस और बीजेपी नेताओं के बीच वाकयुद्ध।
  • BJP ने Congress पर लगाया इंडिया को बांटने का आरोप।
  • कांग्रेस नेता ने मोदी सरकार के फैसले को संविधान विरोधी बताया।

By: Dhirendra

Updated: 17 Oct 2020, 09:53 AM IST

नई दिल्ली। बिहार चुनाव से पहले जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 ( Article 370 ) की बहाली को लेकर कांग्रेस ने फारूक अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती के स्टैंड का समर्थन कर सबको चौंका दिया है। इस मुद्दे पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम ( P Chidambaram ) ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि मोदी सरकार को अनुच्छेद 370 के विशेष प्रावधान हटाने संबंधी फैसलों को रद्द कर देना चाहिए।

कांग्रेस नेता के इस बयान पर पलटवार करते हुए बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ( JP Nadda ) ने कहा कि यह बिहार चुनाव से पहले कांग्रेस की गंदी चाल है। इस रुख से साफ है कि कांग्रेस देश को एक बार फिर बांटने में लगी है।

गिरिराज सिंह ने महागठबंधन से पूछा, क्या देश तोड़ने वाले मस्कूर उस्मानी का चुनाव में देंगे साथ

राहुल और चिदंबरम का बयान शर्मनाक

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जय प्रकाश नड्डा ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और पी चिदंबरम पर हमला बोला है। बीजेपी अध्यक्ष ने ट्विट कर कहा है कि कांग्रेस के पास बात करने के लिए कोई सुशासन का एजेंडा नहीं है, इसलिए वे बिहार चुनाव से पहले अपने ‘डिवाइड इंडिया’की गंदी चाल (dirty tricks ) पर लौट आए हैं। एक तरफ राहुल गांधी ने पाकिस्तान की तारीफ की है तो दूसरी तरफ चिदंबरम ने अनुच्छेद 370 को बहाल करने की मांग की है। नड्डा ने इस बयान को शर्मनाक करार दिया है।

संविधान विरोधी फैसले को निरस्त करे मोदी सरकार

इससे पहले कांग्रेस नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम ने कहा कि कांग्रेस जम्मू-कश्मीर ( Jammu-Kashmir ) में स्पेशल स्टेटस की फिर से बहाली को लेकर संकल्पबद्ध है। उन्होंने केंद्र सरकार से 5 अगस्त, 2019 को लिए गए मनमाने और संविधान विरोधी फैसले को तत्काल प्रभाव से निरस्त करने की मांग की है।

JP Nadda ने कांग्रेस-आरजेडी पर बोला हमला, कहा - अब चुनाव में काम का रिपोर्ट कार्ड दिखाना पड़ता है

उन्होंने अपने ट्विट में लिखा है कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों के अधिकारों की बहाली के लिए संवैधानिक लड़ाई लड़ने के मकसद से वहां के क्षेत्रीय दलों का साथ आना एक ऐसा घटनाक्रम है जिसका भारत के सभी लोगों को स्वागत करना चाहिए। केंद्र सरकार को मुख्यधारा की पार्टियों और जम्मू-कश्मीर के लोगों को अलगाववादी और देश विरोधी होने की नजर से देखना बंद करना चाहिए।

ट्रेंड कर रहा है आर्टिकल 370

कांग्रेस और बीजेपी के शीर्ष नेताओं के बीच अनुच्छेद 370 पर वाकयुद्ध के बाद से अनुच्छेद ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा है। हजारों लोग इस ट्विट पर रि-ट्विट कर चुके हैं।

Show More
Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned