राज्यसभा की 6 सीटों पर 5 जुलाई को उपचुनाव: गुजरात, बिहार और ओडिशा की खाली हुई सीटें

राज्यसभा की 6 सीटों पर 5 जुलाई को उपचुनाव: गुजरात, बिहार और ओडिशा की खाली हुई सीटें

Chandra Prakash Chourasia | Publish: Jun, 15 2019 08:33:35 PM (IST) | Updated: Jun, 15 2019 09:46:37 PM (IST) राजनीति

  • राज्यसभा की 6 सीटों पर उपचुनाव का ऐलान
  • 5 जुलाई को मतदान के बाद ही तुरंत होगी मतगणना

नई दिल्ली। राज्‍यसभा ( Rajya Sabha ) के उपचुनाव की तारीख का ऐलान हो गया। चुनाव आयोग ने बताया कि राज्यसभा की खाली हुई छह सीटों पर आगामी पांच जुलाई को मतदान कराए जाएंगे। ये सीटें सदस्यों के लोकसभा चुनाव जीतने की वजह से खाली हुई हैं। राज्यसभा की जिन छह सीटों पर चुनाव होना है, उनमें गुजरात की दो, बिहार की एक और ओडिशा की तीन सीटें शामिल हैं।

ट्रेन में मसाज सर्विस पर सुमित्रा महाजन को आपत्ति, कहा- महिलाओं को होगी दिक्कत

राज्य राज्यसभा से इस्तीफा देने वाले नेता दल
बिहार रविशंकर प्रसाद बीजेपी
गुजरात अमित शाह बीजेपी
गुजरात स्मृति ईरानी बीजेपी
ओडिशा अच्युतानंद सामांत बीजद
ओडिशा प्रताप केशरी देब बीजद
ओडिशा सौम्य रंजन पटनायक बीजद

मेट्रो में महिलाओं को मुुुुफ्त सवारीः सिसोदिया को नहीं पसंद आया श्रीधरन का पीएम मोदी को लिखा खत

18 जून को शुरु होगी निर्वाचन प्रक्रिया

चुनाव आयोग ने बताया कि उपचुनाव के लिए 18 जून को अधिसूचना जारी होगी। इसके साथ ही निर्वाचन प्रक्रिया की औपचारिक शुरु हो जाएगी। नामांकन की अंतिम तारीख 25 जून होगी और 26 जून को नामांकन पत्रों की जांच की जाएगी। वहीं 28 जून तक प्रत्याशी नाम वापस सकेंगे। पांच जुलाई को सुबह नौ बजे से शाम चार बजे तक मतदान होगा। पांच जुलाई की शाम पांच ही बजे मतगणना होगी और नतीजों का ऐलान कर दिया जाएगा।

गुजरात की सीट पर कांग्रेस की नजर

बात अगर गुजरात की दो राज्यसभा सीटों की करें तो कांग्रेस ने इनपर एक साथ चुनाव करने की मांग भी की थी। कांग्रेस की ओर से वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा था कि हम चाहते हैं कि गुजरात में दोनों राज्यसभा सीटों पर एक साथ चुनाव कराए जाएं ताकि बीजेपी किसी भी तरह की गड़बड़ी ना कर सके।

कहानी मेडिसिन बाबा की, जो गरीबों के लिए भीख मांगते हैं दवाइयां


कब होता है राज्यसभा का चुनाव

राज्यसभा,भारतीय संसद का एक स्थाई सदन है, इसलिए ये कभी भंग नहीं होती है। इसके सदस्यों का कार्यकाल 6 साल का होता है। हर दो साल पर इसके एक तिहाई सदस्यों का कार्यकाल खत्म हो जाता है और फिर उनकी सीटों पर चुनाव होता है। इसके अलावा किसी सदस्य के इस्तीफे, निधन या किन्ही कारणों से सदन छोड़ने पर उनकी सीट पर चुनाव कराए जाते हैं।

दिल्ली में 24 घंटे में 5 हत्या पर गुस्साए केजरीवाल, दिल्ली पुलिस का जवाब- अपराध घटा है


राज्यसभा में होते हैं संख्या सदस्य

संविधान में राज्यसभा के लिए सदस्यों की संख्या 240 निर्धारित की गई है। इनमें से 12 को राष्ट्रपति मनोनीत (नामित) करते हैं। इसके 238 सदस्य संघ और राज्य के प्रतिनिधि चुनते हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned