#SpeakUpIndia के जरिये कांग्रेस का बीजेपी पर हमला, सोशल प्लेटफॉर्म से 50 लाख लोगों को जोड़ने का लक्ष्य

  • Congress का BJP पर Online वार
  • Speak Up India अभियान के जरिये Modi Govt पर हमला
  • कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और कार्यकर्ताओं ने सरकार के आगे रखी अपनी मांग

By: धीरज शर्मा

Updated: 28 May 2020, 02:14 PM IST

नई दिल्ली। कोरोनावायरस ( coronavirus ) जैसी महामारी के बीच कांग्रेस ( Congress ) ने एक बार फिर मोदी सरकार ( Modi Govt ) और सत्ताधारी पार्टी भारतीय जनता पार्टी ( BJP ) को घेरने की तैयारी की है। लेकिन इस बार कांग्रेस ने सड़क पर उतरने की बजाय सोशल मीडिया ( Social Media )फ्लेटफॉर्म को बड़ा हथियार बनाया है। कांग्रेस के स्पीकअप इंडिया ( SpeakUpIndia ) अभियान के तहत पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से लेकर कार्यकर्ताओं तक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्वीटर ( Twitter ), फेसबुर ( Facebook ), इंस्टाग्राम ( Instagram ) के जरिये अपनी-अपनी बात रख रहे हैं।

कोरोना लॉकडाउन ( Lockdown ) के बीच कांग्रेस लगातार प्रवासी मजदूरों ( Migrant Labour ) और किसानों ( Farmers )की परेशानियों को लेकर केंद्र की मोदी सरकार को घेरती आ रही है। इसी कड़ी में अब कांग्रेस ने सोशल मीडिया पर SpeakUpIndia नाम से बड़ा अभियान शुरू किया है।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मोदी सरकार से रखी मांग, खजाने का ताला खोले सरकार, हर परिवार के खाते में डाले 10 हजार

सोनिया गांधीः मजदूरों की सिसकी सुनो सरकार
करोड़ों रोजगार चले गए, लाखों धंधे चौपट हो गए, कारखानें बंद हो गए, किसान को फसल बेचने के लिए दर-दर की ठोकरें खानी पड़ीं। यह पीड़ा पूरे देश ने झेली, पर शायद सरकार को इसका अंदाजा ही नहीं हुआ।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि अस्तित्व के लिए संघर्ष कर रहे हमारे भाइयों और बहनों के लिए, उन लोगों के लिए जिनकी आवाज़ खामोश कर दी गई है, निराशा और भयभीत लोगों के लिए कांग्रेस पार्टी हमेशा खड़ी है। हम ऐसे ही लोगों की आवाज को सरकार तक पहुंचा रहे हैं। हम सभी मिलकर कुछ अलग कर सकते हैं।

राहुल ने कहा भारत में आज तूफान आया हुआ है। सबसे ज्यादा चोट गरीब जनता को लगी। उन्हें भूखा प्यासा घंटों सड़कों पर चलना पड़ता है। कांग्रेस पार्टी सरकार से चार मांग करती है।

1. हर गरीब परिवार के अकाउंट में महीने 7500 रुपए 6 महीने तक डाला जाए

2. मनरेगा में 100 दिन की बजाय 200 दिन का रोजगार दिया जाए।

3. स्माल मीडियम बिजनेज के लिए तुरंत पैकेज तैयार किया जाए

4. प्रवासी मजदूरों को घरों तक पहुंचाने के लिए सुविधा दी जाए।

भीषण गर्मी से मिलेगी राहत, मौसम विभाग ने बताया कब और कहां होगी बारिश

पी चिदंबरमः श्रमिकों को मिले मुफ्त परिवहन
हम मांग करते हैं कि प्रत्येक प्रवासी श्रमिक परिवार अपने घरों को लौट रहे हैं, उन्हें मुफ्त परिवहन दिया जाना चाहिए। परीक्षण किए जाने के बाद, प्रत्येक प्रवासी श्रमिक परिवार को वर्तमान संकट से निपटने के लिए 10,000 दिया जाना चाहिए।

मुकुल वासनिक
दुर्भाग्यवश, सरकार ने इस राष्ट्रीय संकट के दौरान लोगों की समस्याओं पर ध्यान नहीं दिया।

राजस्थान के प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को घेरा। उन्होंने कहा कि मनरेगा को लेकर पीएम मोदी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा केंद्र की भाजपा सरकार ने गरीबों एवं मजदूरों की समस्यों को नजरंदाज कर, संवेदनहीनता का परिचय दिया है।

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता और सदस्य समन्वय समूह सुप्रिया श्रीनाते ने भी मोदी सरकार से प्रवासी मजदूरों को मुफ्त परिवहन और खाते में 10 हजार रुपए जमा करने की मांग की।

कांग्रेस की सरकार से तीन अहम मांग
पहलीः 10 हजार तुरंत खाते में जमा करें
आपको बता दें कि कांग्रेस सोशल मीडिया पर अभियान के तहत मोदी सरकार से मांग कर रही है कि इनकम टैक्स की छूट वाले सभी परिवारों के खाते में 10 हजार रुपए तत्काल जमा करवाकर उनकी आर्थिक मदद करे।

दूसरीः मनरेगा की अवधि 100 से बढ़ाकर 200 दिन करे
इसके साथ ही कांग्रेस की मांग है कि मनरेगा के तहत 100 दिन के रोजगार को बढ़ाकर सरकार 200 दिन करे।

तीसरीः लॉकडाउन के बाद की स्थिति साफ करे सरकार
कांग्रेस की मांग है कि केंद्र सरकार लॉकडाउन के बाद की स्थिति को जनता के बीच स्पष्ट करे। आगे की क्या रणनीति होगी इसकी जानकारी मुहैया करवाए।

इन्हीं बड़ी मांगों के साथ देशभर में विभिन्न सोशल प्लेटफॉर्म के जरिये कांग्रेस के वरिष्ठ से कनिष्ठ कार्यकर्ता तक अपनी बात घर बैठे रख रहे हैं। अपने इस अभियान के तहत कांग्रेस ने 50 लाख कार्यकर्ताओं को जुटाने का लक्ष्य भी रखा है।

pm modi BJP
Show More
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned