नेहरू-जिन्ना विवाद को लेकर दिए अपने बयान पर दलाई लामा ने मांगी माफी, कांग्रेस ने जताई थी कड़ी आपत्ति

नेहरू-जिन्ना विवाद को लेकर दिए अपने बयान पर दलाई लामा ने मांगी माफी, कांग्रेस ने जताई थी कड़ी आपत्ति

By: धीरज शर्मा

Published: 10 Aug 2018, 02:11 PM IST

नई दिल्ली। नेहरू और जिन्ना पर दिए अपने बयान के बाद विवादों में घिरे तिब्बती और आध्यात्मिक नेता दलाई लामा ने आखिरकार अपने शब्दों को वापस ले लिया है। दरअसल कांग्रेस ने दलाई लामा के नेहरू को लेकर दिए बयान पर कड़ी आपत्ति जताई थी। दरअसल दलाई लामा के गोवा प्रवास पर उभरा विवाद ठंडा नहीं हो पाया था कि तिब्बत की निर्वासित सरकार ने इस पर सफाई देते हुए कहा है कि दलाई लामा के बयान को भारतीय राजनिति से जोड़कर न देखा जाए।

तीन तलाक पर कांग्रेस नेता का विवादित बयान, मुस्लिम ही नहीं इन धर्म में भी हुआ महिलाओं से बुरा बर्ताव
वैसे तो दलाई लामा भारतीय राजनिति पर काफी सोच समझ कर बोलते हैं। लेकिन इस बार उनकी जुबान थोड़ी फिसल गई। उनके इस बयान के बाद बड़ा विवाद उभर आया। खासकर कांग्रेस पार्टी ने इस बयान को लेकर बवाल मचा दिया और दलाई लामा को अपने शब्द लेने की बात कही गई।

आखिरकार मांगनी पड़ी माफी
विवाद बढ़ता देख अब दलाई लामा सामने आये हैं। नेहरू जिन्ना पर दिये अपने बयान के संदर्भ में स्पष्टीकरण देते हुये दलाई लामा ने माफी मांगी है। उन्होंने कहा है कि अगर मेरा बयान गलत था, तो मैं उसके लिए माफी मांगता हूं।

ये है पूरा मामला
दरअसल बुधवार को दलाई लामा ने एक कार्यक्रम में कहा था कि महात्मा गांधी चाहते थे कि मोहम्मद अली जिन्ना देश के शीर्ष पद पर बैठें लेकिन पहला प्रधानमंत्री बनने के लिए जवाहरलाल नेहरू ने आत्म केंद्रित रवैया अपनाया था। दलाई लामा के इस बयान पर काफी हंगामा हुआ था। कई राजनीतिक दलों ने इस बयान पर आपत्ति जताई थी। । तिब्बती गुरू का कहना था कि मेरा मानना है कि सामंती व्यवस्था के बजाय प्रजातांत्रिक प्रणाली बहुत अच्छी होती है। सामंती व्यवस्था में कुछ लोगों के हाथों में निर्णय लेने की शक्ति होती है, जो बहुत खतरनाक होता है।

Congress
Show More
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned